पीएम की सुरक्षा में सेंध संबंधी नड्डा के आरोप का कांग्रेस ने किया खंडन | Congress refutes Nadda’s allegation of breach in PM’s security



डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री के मार्ग में बुधवार को सुरक्षा नियम तोड़े जाने को लेकर राजनीतिक विवाद छिड़ गया है। कांग्रेस ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा लगाए गए आरोपों का कड़ा खंडन किया है और कहा कि हुसैनीवाला का दौरा पीएम के मूल कार्यक्रम का हिस्सा नहीं था। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि फिरोजपुर में कोई भीड़ नहीं थी, जहां प्रधानमंत्री सभा को संबोधित करने वाले थे, इसलिए यात्रा रद्द कर दी गई। सुरजेवाला ने नड्डा को सलाह दी कि शांत रहें और औचित्य की भावना को मत खोए।

सुरजेवाला ने कहा, पीएम की रैली के लिए 10,000 सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था। एसपीजी और अन्य एजेंसियों के साथ मिलकर सभी व्यवस्थाएं की गई थीं। हरियाणा व राजस्थान के भाजपा कार्यकर्ताओं की सभी बसों के लिए भी रूट बनाया गया था। पीएम ने हुसैनीवाला की सड़क यात्रा करने का फैसला किया। सड़क मार्ग से यात्रा करना उनके मूल कार्यक्रम का हिस्सा नहीं था। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता किसानों से बातचीत कर रहे थे। किसान मजदूर संघर्ष समिति (केएमएससी) पीएम के दौरे का विरोध कर रही है और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत ने उनके साथ दो दौर की बातचीत की है।

उन्होंने भाजपा को किसानों से किए वादों को पूरा नहीं करने की याद दिलाई। क्या आप जानते हैं कि केएमएससी और किसान पीएम मोदी का विरोध क्यों कर रहे हैं? उनकी मांगें हैं : गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त करें। हरियाणा, दिल्ली और यूपी में किसानों के खिलाफ आपराधिक मामले वापस लें। मरने वाले 700 किसानों के परिजनों को मुआवजा दें। एमएसपी पर समिति बनाएं और एक त्वरित निर्णय लें। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के बाद मोदी सरकार ने इन वादों को पूरी तरह से नजरअंदाज कर दिया।

उन्होंेने कहा, आखिरकार, रैली रद्द करने का कारण यह है कि भाजपा के किसान विरोधी रवैये के कारण मोदी जी को सुनने के लिए भीड़ नहीं जुटी। हम पर दोषारोपण बंद कीजिए और आत्मनिरीक्षण करो। रैलियां कीजिए, लेकिन पहले किसानों की सुनिए! कांग्रेस बुधवार को भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा को जवाब दे रही थी। नड्डा ने कहा था कि कांग्रेस सरकार ने भारी हार के डर से राज्य में प्रधानमंत्री के कार्यक्रमों को विफल करने के लिए हर संभव कोशिश की।

नड्डा ने अपने सिलसिलेवार ट्वीटों में कहा, निर्वाचकों के हाथों भारी हार के डर से, पंजाब में कांग्रेस सरकार ने राज्य में पीएम नरेंद्र मोदी जी के कार्यक्रमों को विफल करने के लिए हर संभव कोशिश की। नड्डा ने दावा किया कि पंजाब की कांग्रेस सरकार ने अपनी घटिया हरकतों से दिखा दिया है कि वे विकास विरोधी हैं और स्वतंत्रता सेनानियों के लिए भी उनके मन में कोई सम्मान नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को सुरक्षा में सेंध के कारण पंजाब के फिरोजपुर की अपनी निर्धारित यात्रा रद्द कर दी।

(आईएएनएस)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here