भाजपा में भेजना चाहते हैं तो मुझे सपा से निकाल क्यों नहीं देते, अखिलेश के बयान पर फिर भड़के शिवपाल


चाचा के भाजपा में जाने वाले अखिलेश के बयान पर शिवपाल यादव एक बार फिर से भतीजे पर भड़कते नजर आए। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने बुधवार को कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव लगातार उनके भाजपा मे शामिल होने के मुद्दे पर गैर जिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं। शिवपाल ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा मेरे भाजपा में शामिल होने के बारे में अखिलेश गलत बयानबाजी कर रहे हैं।

पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव आज पूर्व केबिनेट मंत्री आजम खां के पक्ष में खुलकर बोले। उन्होंने कहा कहा कि आजम खां सबसे सीनियर विधायक हैं। सांसद और राज्यसभा सदस्य भी रहे। उनके साथ जुल्म हो रहा है। जब वे लोकसभा सदस्य थे तो उनके जुल्म के खिलाफ समाजवार्दी को लोकसभा और विधानसभा में धरने पर बैठ जाना चाहिए था। नेताजी मुलायम सिंह यादव को भी धरने में शामिल करते। 

उन्होंने कहा पूरा देश जानता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेताजी मुलायम सिंह यादव का सम्मान करते हैं। अगर नेताजी आंदोलन में शामिल होते तो जरूर आजम खां के साथ न्याय होता। आज उन पर छोटे छोटे 72 मुकदमे हैं। एक छोटे केस में चार महीने से जमानत नहीं मिल रही है। फैसला रिजर्व रखा है। उन्होंने कहा कि जुल्म और अत्याचार के खिलाफ समाजवादियों के संघर्ष का इतिहास रहा है। आज यह संघर्ष कही दिखायी नहीं देता। उन्होंने कहा कि सपा के 111 विधायक हैं। उनमें से एक वे भी हैं। यदि समाजवादी पार्टी उन्हें बीजेपी में भेजना चाहती है तो निकाल क्यों नहीं देती। कहा कि जब समय आएगा तब वे सभी को अपने फैसले के बारे में खुद जानकारी देंगे। 

संबंधित खबरें

चाचा को लेने में देर क्यों कर रही BJP, मैनपुरी में बोले अखिलेश

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के परिणाम के बाद से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव अपने भतीजे व समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव से नाराज चल रहे हैं। बुधवार को मैनपुरी में अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा है कि बीजेपी हमारे चाचा को लेना चाहती है तो देर क्यों कर रही है। चाचा को जल्दी से पार्टी में ले ले। बीजेपी के नेता चाचा को लेने में इतना विचार क्यों कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे चाचा से कोई नाराजगी नहीं है लेकिन बीजेपी ये बताए कि चाचा को लेकर वो इतनी खुश क्यों है।

छह दिन पहले भी अखिलेश के बयान पर शिवपाल कर चुके हैं पलटवार

छह दिन पहले अखिलेश के बयान पर भी शिवपाल यादव पलटवार कर चुके हैं। शिवपाल यादव ने कहा था कि वह सपा के 111 विधायकों में से एक हैं। यदि अखिलेश को कोई दिक्‍कत है तो उन्हें पार्टी से निकाल दें। शिवपाल ने कहा था कि हमने सपा के चुनाव चिह्न साइकिल से चुनाव लड़ा है। यदि उन्‍हें ऐसा लगता है तो तुरंत निर्णय लें और हमें विधानमंडल दल से निकाल दें। गौरतलब है कि कल  शिवपाल यादव के भाजपा के साथ संपर्कों के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश यादव ने कहा था कि जो भाजपा से मिलेगा, वह सपा में नहीं दिखेगा। 

यह बोले थे अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के मुखिया एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव औऱ उनके चाचा शिवपाल यादव के बीच चल रही तनातनी कुछ दिन पहले ही साफ देखने को मिली थी। इस दौरान जब अखिलेश से शिवपाल यादव के भाजपा के साथ संपर्कों  का सवाल किया गया तो वह भड़क गए थे। भाजपा में जाने के सवाल पर अखिलेश बोले, जो भाजपा से मिलेगा, वह सपा में नहीं दिखेगा। इस दौरान उन्होंने सूबे की योगी सरकार को भी अवैध करार दिया था। उन्होंने सवाल उठाया था कि इस पर बुलडोजर कब चलेगा। उन्होंने मोदी और योगी सरकार पर भी जमकर प्रहार किए थे।

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here