100 percent employees in favor of working four days a week most Indian companies also have the same opinion – Business News India


दुनियाभर की कंपनियां हफ्ते में चार दिन काम की दिशा में कदम बढ़ा रही हैं। इस बीच एक सर्वे में खुलासा हुआ है कि अधिकांश भारतीय कंपनियां भी हफ्ते में चार दिन काम के पक्ष में हैं।

राहत भरा सोमवार: पेट्रोल-डीजल की नई कीमतेे जारी, चेक करें सस्ता हुआ महंगा या फिर वही है भाव

एचआर से जुड़े समाधान देने वाली फर्म जीनियस कंसलटेंट्स के एक सर्वे के मुताबिक, भारत के 60 फीसदी से अधिक नियोक्ता सप्ताह में चार दिन काम के पक्ष में हैं। इन नियोक्ताओं का मानना है कि काम का यह मॉडल कंपनी और कर्मचारियों के मनोबल को बढ़ाने का काम करेगा। साथ ही कर्मचारियों को नौकरी की संतुष्टि और व्यक्तिगत-प्रोफेशनल जीवन में संतुलन बनाने में मदद मिलेगी।

संबंधित खबरें

इस मॉडल से नियोक्ता और कर्मचारी दोनों को तनाव कम करने में मदद मिलेगी। हालांकि, सर्वे में शामिल 27 फीसदी नियोक्ताओं का मानना था कि वे इस मॉडल से कंपनी की उत्पादकता को लेकर पक्के तौर पर कुछ नहीं कह सकते हैं। 11 फीसदी ने कहा कि इस मॉडल से न तो कुछ खास सुधार दिखेगा और ना ही कुछ रिटर्न मिलेगा।

एक दिन अतिरिक्त छुट्टी के लिए हर दिन 12 घंटे से अधिक काम

सर्वे में शामिल 60 फीसदी से अधिक कर्मचारियों ने एक दिन अतिरिक्त छुट्टी के लिए हर दिन 12 घंटे से अधिक काम करने की सहमति दी। सर्वे में शामिल 52 फीसदी नियोक्ताओं और कर्मचारियों ने तीसरी साप्ताहिक छुट्टी के लिए शुक्रवार को पसंद किया। जबकि 18-18 फीसदी ने सोमवार और बुधवार को पसंद किया।

एक फरवरी से सात मार्च के बीच हुआ सर्वे

जीनियस कंसलटेंट्स के मुताबिक, एक फरवरी से सात मार्च के दौरान देशभर के 1,113 नियोक्ता और कर्मचारियों के बीच ऑनलाइन सर्वे कराया गया। इस सर्वे में शामिल 100 फीसदी कर्मचारियों ने चार दिन काम के मॉडल के पक्ष में वोट किया। सर्वे में बैंकिंग-फाइनेंस, कंस्ट्रक्शन, इंजीनियरिंग, एजुकेशन, एफएमसीजी, एचआर सॉल्यूशंस, आईटी-बीपीओ, लॉजिस्टिक्स, मैन्युफैक्चरिंग, तेल एवं गैस सेक्टर के नियोक्ता और कर्मचारी शामिल हुए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here