adhir ranjan chowdhury comment on draupadi murmu sonia gandhi smriti irani bjp congress monsoon parliament session – India Hindi News


राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर दिए गए कांग्रेस नेता अधीर रंजन के बयान का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अब संसद में हंगामे के चलते लोकसभा और राज्यसभा को सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया है। इधर, भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस सांसद भी आमने-सामने आ गए हैं और माफी जारी करने की मांग कर रहे हैं। 

क्या था मामला

गुरुवार को चौधरी ने एक टीवी चैनल से बातचीत में देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को ‘राष्ट्रपत्नी’ कह दिया था। इसके बाद से ही यह मामला संसद में गर्मा गया था। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मामले में माफी की मांग की थी। उन्होंने महिला राष्ट्रपति के अपमान के आरोप लगाए थे।

सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी विवाद में सांसद ने याद दिलाया- कैसे राजनाथ सिंह को बनाया गया था टारगेट

मामला स्मृति बनाम सोनिया कब हुआ

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, संसद में हंगामे के बाद जब गुरुवार को दोपहर 12 बजे संसद को स्थगित किया गया, तो कांग्रेस अध्यक्ष भाजपा सदस्य रमा देवी से बात करने पहुंचीं। वह जानना चाहती थीं कि मामले में उन्हें क्यों घसीटा जा रहा है। खबर है कि इस दौरान ईरानी बीच में पहुंचीं और गांधी से बात करने की कोशिश की। कहा जा रहा है कि सोनिया ने ईरानी के विरोध को नजरअंदाज करने की कोशिश की और नाराजगी भी जता दी।

सरकार से माफी की मांग

अब सोनिया और स्मृति के बीच हुए तनाव के बाद कांग्रेस सांसदों ने गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया। सांसद सरकार से माफी की मांग कर रहे थे। कांग्रेस सदस्य सोनिया के साथ हुए कथित गलत व्यवहार को लेकर विरोध जता रहे थे। उनके साथ आरएसपी और IUML सांसद भी शामुल हुए।

क्या कह रहे हैं दल

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि अधीर रंजन ने माफी नहीं मांगी है, दूसरी बात ये है कि जब द्रौपदी मुर्मू जी का नाम राष्ट्रपति पद के लिए नामित किया गया था तब भी कांग्रेस पार्टी द्वारा उन्हें अपमानित किया गया इसे देखते हुए सोनिया गांधी को माफी मांगनी चाहिए।

कांग्रेस सांसद रवनीत बिट्टू ने कहा कि स्मृति ईरानी जी जब भी बोलती है, बखेड़ा खड़ा करती हैं। उन्हें सास-बहू वाली नोंकझोंक की आदत है, लेकिन यह लोकसभा है, यहां ऐसा नहीं चलेगा। माफी मांगनी पड़ेगी। जितनी देर माफी नहीं मांगेंगे नाक में दम कर देंगे।

भाजपा नेता निशिकांत दुबे ने कहा कि आज वे राष्ट्रपति के लिए इतनी घटिया बात करके माफी मांगने के बजाय लड़ाई पर उतारू हैं। ये लोग आदिवासी महिला को इस पद पर देखना नहीं चाहते हैं। प्रधानमंत्री जी छोटे परिवार से आते हैं चाय बेचते थे उसको ये पचा नहीं पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक आदिवासी गरीब महिला पहली बार देश की राष्ट्रपति बनी हैं। गांधी परिवार के परिवारवाद को इससे बहुत बड़ा खतरा दिखाई दे रहा है। राजनाथ जी ने राजीव गांधी ट्रस्ट पर 2012 में कोई छोटी सी बात कही थी। उस पर इन लोगों ने उन्हें 10 नोटिस भेज दिए थे।

इधर, चौधरी ने कहा, ‘कल मुझे संसद में मेरे खिलाफ तमाम का जवाब देने का मौका नहीं दिया गया था। मैंने आज संसद में जवाब देने का मौका मांगा है।’ उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से कल संसद में सोनिया गांधी पर निशाना साधा गया.. सरकार को माफी मांगनी चाहिए। इस मामले में मैं केंद्र में हूं लेकिन  भाजपा सोनिया गांधी पर हमला कर रही है।’

राष्ट्रपति से मिले भाजपा नेता

शुक्रवार को ईरानी ने महामहिम मुर्मू से मुलाकात की। इस बात की जानकारी उन्होंने ट्वीट के जरिए दी। उन्होंने लिखा, ‘भारत की माननीय राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी से मिलने का सौभाग्य मिला।’ वहीं, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के भी राष्ट्रपति से मिलने की खबर सामने आई थी। इधर, चौधरी भी महामहिम से माफी मांगने की बात कह रहे हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here