Akhilesh attacks on Shivpal says why BJP is delaying in taking chacha – शिवपाल के सवाल पर बोले अखिलेश


उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के परिणाम के बाद से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव अपने भतीजे व समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव से नाराज चल रहे हैं। पार्टी में लगातार हो रही उपेक्षा इसकी वजह है। इस बीच बुधवार को मैनपुर में अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी हमारे चाचा को लेना चाहती है तो देर क्यों कर रही है। चाचा को जल्दी से पार्टी में ले ले। बीजेपी के नेता चाचा को लेने में इतना विचार क्यों कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे चाचा से कोई नाराजगी नहीं है लेकिन बीजेपी ये बताए कि चाचा को लेकर वो इतनी खुश क्यों है।

इससे पहले, शिवपाल ने एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में कहा था कि विधानसभा चुनाव से पहले मैंने सपा की सदस्यता ली। फिर चुनाव सपा के टिकट से लड़ा। सपा के 111 विधायकों में से मैं भी एक हूं। इसके बावजूद मुझे सपा विधान मंडल दल की बैठक में नहीं बुलाया गया। अखिलेश से जब इस बारे में कहा तो उन्होंने गठबंधन के दलों के साथ बैठक में बुलाने की बात कही। मेरा सपा के साथ कोई गठबंधन नहीं हुआ था, मैं तो सपा में शामिल होकर चुनाव लड़ा था। यदि गठबंधन में मुझे मानते थे तो चुनाव से पहले गठबंधन की बैठकों में मुझे क्यों नहीं बुलाया गया?

समाजवादी पार्टी आजम खां के साथ, मैं मिलने जाऊंगा: अखिलेश

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी आजम खां के साथ है। बीजेपी, कांग्रेस जब मुकदमे लगा रही थी तब ये लोग कहां थे जो अब आजम खां के साथ सहानुभूति जता रहे हैं। उन्होंने खुद उन लोगों से बात की थी जो लोग आजम खां पर मुकदमे लगा रहे थे। लेकिन उन अधिकारियों पर मुकदमे लगाने का दबाव था। कहा कि पार्टी के लोग उनसे मिलने जाएंगे। जरूरत पड़ेगी तो मैं भी आजम से मिलने जाऊंगा। 

संबंधित खबरें

जाति, धर्म देखकर बुलडोजर चला रही सरकार: अखिलेश

खिलेश यादव ने बुधवार को योगी सरकार के बुलडोजर पर निशाना साधा। कहा कि पूरे प्रदेश में जाति और धर्म देखकर बुलडोजर चलाया जा रहा है। जो लोग गरीब हैं या फिर जिन लोगों ने भाजपा को वोट नहीं दिया है, उन्हीं लोगों पर बुलडोजर चल रहा है, जबकि गोरखपुर में बुलडोजर की आड़ में 150 करोड़ से अधिक का मुआवजा भाजपा के लोगों ने लिया। उन्होंने कहा कि दुनिया में एक व्यक्ति भारत का पैसे के नाम पर जाना जा रहा है। लेकिन देश की गरीबी नहीं दिख रही। लोगों के पास पैसा नहीं है। इस अवसर पर अवधेश यादव, गौरव दयाल वाल्मीकि, चंद्रशेखर यादव, मनोज यादव, रामनारायण बाथम, संदीप यादव, उपदेश यादव, कमल वर्मा, आदि मौजूद रहे।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here