Another flop show of Mumbai Indians captain Rohit Sharma in IPL 2022 know what coach Mahela Jayawardene said on form


मुंबई इंडियंस के कोच महेला जयवर्धने ने कहा कि वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 में कप्तान रोहित शर्मा की फॉर्म को लेकर चिंतित नहीं है, क्योंकि एक बार बड़ी पारी खेलने से सब ठीक हो जाएगा। लेकिन टीम को उनकी इस पारी का बेसब्री से इंतजार है जिसका टूर्नामेंट में लगातार हार का सिलसिला जारी है। मुंबई इंडिंयस के कप्तान रोहित अपनी शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर सके हैं और इस सीजन में उन्होंने अब तक 21.60 के औसत से महज 108 रन बनाए हैं।

राशिद खान आज लगा सकते हैं आईपीएल में विकेटों का शतक

जयवर्धने ने कहा, ‘अगर आप उसके पारी शुरू करने के तरीके को देखो तो वह जिस तरह से गेंद हिट करता है, वो शानदार है। वह गेंद की अच्छी टाइमिंग कर रहा है, उसे कुछ बहुत अच्छी शुरुआत मिल रही हैं। हां, वह निराश भी है कि वह इन्हें बड़ी पारियों में नहीं बदल पा रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘हमने रोहित को 14-15 ओवर तक गहराई तक बल्लेबाजी करते और बड़े स्कोर बनाते देखा है। यह सिर्फ समय की बात है। वह बेहतरीन खिलाड़ी है और मैं उसकी फॉर्म के बारे में ज्यादा चिंतित नहीं हूं।’

‘मैच को आखिरी तक ले जाना था प्लान’

संबंधित खबरें

मुंबई इंडियंस को बुधवार को पंजाब किंग्स के हाथों 12 रन से हार का सामना करना पड़ा जो उनकी लगातार पांचवीं शिकस्त थी जिससे टीम बाहर होने की कगार पर है। जयवर्धने ने कहा, ‘हम छह बल्लेबाजों के साथ खेल रहे थे और हमने मैच को गहराई तक ले जाने की कोशिश की थी। और मैच खत्म करने के लिए सूर्या (सूर्यकुमार यादव) से बेहतर खिलाड़ी कोई नहीं है।’ पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे सूर्यकुमार ने 30 गेंद में 43 रन बनाए लेकिन वह 19वें ओवर में आउट हो गए।

मैदान पर हताश बैठे सूर्यकुमार कुमार का ऐसे पोलार्ड ने बढ़ाया हौसला

‘सूर्या को बाद में भेजने के पीछे था अहम कारण’

जयवर्धने ने कहा, ‘पावरप्ले में गेंदबाज गेंद को थोड़ा स्विंग करते हैं इसलिए मैं सूर्या का उस परिस्थिति में नहीं लाना चाहता था क्योंकि इससे वह अपना नैचुरल खेल नहीं खेल पाता। यह रणनीति का हिस्सा था।’ उन्होंने कहा कि प्लान यही था कि मिडिल ऑर्डर में युवाओं को अधिक आजादी से खेलने दिया जाए और सूर्यकुमार और कीरोन पोलार्ड फिनिशर की भूमिका निभाएं। जयवर्धने ने कहा, ‘हम जानते हैं कि ये दो युवा खिलाड़ी ऐसा करने में सक्षम हैं। उन्हें इसलिए परिस्थितियों को संभालने के लिए थोड़ी आजादी और कंट्रोल दिया है ताकि पॉली और सूर्या लक्ष्य तक पहुंच सके। यह शुरुआती प्लान था। प्रतिद्वंद्वी टीम को देखने के बाद ही रणनीति बनाई थी।’

‘हमें आर्चर की कमी खल रही है’

उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि चोटिल जोफ्रा आर्चर की कमी टीम को खेल रही है क्योंकि गेंदबाजी इकाई दबाव को बरकरार नहीं रख पा रही है। जयवर्धने ने कहा, ‘निश्चित रूप से, हमने नीलामी में अपने लिए जिस सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज जोफ्रा आर्चर को खरीदा था, वो यहां नहीं है। इसलिए जब आप उस स्थिति में होते हो तो यह मुश्किल होता है। लेकिन हम कोशिश कर रहे हैं कि कितना अच्छे तरीके से हम संभाल पाते हैं।’



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here