BDO Neeraj Kumar slaps youth during mask checking in Lakhisarai RJD surrounds Nitish government


बिहार के लखीसराय जिले के पुरानी बाजार शहीद द्वार रेलवे पुल के नीचे रविवार को सदर बीडीओ डॉ नीरज कुमार से मास्क जांच के दौरान जुर्माने को लेकर बहस करना एक युवक को भारी पड़ गया। पहले तो युवक ने धौंस दिखाकर बिना मास्क जुर्माना देने से आनाकानी कर जांच अभियान टीम से पीछा छुड़ाने का प्रयास किया।  बिना जुर्माना जांच टीम से निकलने के प्रयास के बाद युवक बिना नाम जुर्माना का राशि देते हुए जांच टीम के साथ अमर्यादित व्यहार करने लगा। युवक के अमर्यादित व्यवहार व अभद्र भाषा से उत्तेजित हो सघन जांच अभियान का नेतृत्व कर रहे बीडीओ भी अपना आपा खो बैठे व युवक को थप्पड़ जड़ दिया। थप्पड़ खाने के बाद युवक चुपचाप जुर्माना भरा और वापस अपने घर की ओर चल दिया। 

बीडीयो के द्वारा युवक को थप्पड़ मारने का वीडिया सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वहीं राजद ने इस मुद्दे को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। राजद ने वीडीयो को ट्वीट करते हुए लिखा है कि बिहार में लोकतंत्र नहीं, नीतीश का अफसर-तंत्र है! जिले में BDO नीरज कुमार ने खुद मास्क ठीक से नहीं लगाया था पर युवक को मास्क नहीं पहनने के नाम पर थप्पड़ जड़ने में एक सेकंड की देरी नहीं की! असल में इनकी चिंता जनमानस के स्वास्थ्य की नहीं है बल्कि जुर्माने के नाम पर वसूली की है!

कोरोना विस्फोट होते ही मास्क पहनाने उतर गया महकमा

लखीसराय में कोरोना की तीसरी लहर का कहर दिखने लगा है। पिछले कुछ दिनों से लगातार संक्रमित मरीजों की बड़ी संख्या में सामने आने से हड़कंप मचा है। स्वास्थ्य विभाग भी लगातार लोगों की कोरोना जांच करने के साथ ही वैक्सीनेशन का कार्य तेज किया गया है। वहीं प्रशासन ने भी बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सख्ती बढ़ानी शुरू कर दी है। शनिवार को एक साथ मिले 61 नये संक्रमित मरीजों के बाद प्रशासनिक स्तर पर देर रात ही मास्क जांच अभियान को लेकर टीम का गठन कर दिया गया। सुबह होते ही शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों में अधिक चहल-पहल वाले इलाके में पुलिस व प्रशासनिक पदाधिकारियों को पूरे दल-बल के साथ मुस्तैद देखा गया। मास्क न पहनने वाले सैकड़ों लोगों से अलग-अलग टीमों ने जुर्माना वसूला। 

रविवार को कोरोना संक्रमित मरीजों की बात करें तो 21 नये मरीजों के मिलने की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। वहीं अब जिले में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 134 हो गई है। वहीं सदर अस्पताल में तैनात चार प्रशिक्षु एएनएम के साथ ही बड़हिया के एक स्वास्थ्यकर्मी के भी पॉजिटिव होने की बात सामने आ रही है। वहीं संक्रमितों के कुल आंकड़ों को देखा जाए तो एकमात्र संक्रमित को छोड़ सभी नये साल के इन नौ दिनों में ही मिले हैं। वहीं रविवार को राहत की बात यह रही कि 13 संक्रमितों के पॉजिटिव होने की भी पुष्टि हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक अब पॉजिटिव मरीज एक सप्ताह में ही इलाज के बाद निगेटिव हो जा रहे हैं, जो बड़ी राहत की बात है। यानी 121 संक्रमित मरीज अब भी होम आइसोलेशन में हैं।  स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक इसबार ज्यादातर लोग होम आइसोलेशन में जाना पसंद कर रहे हैं। वहीं अबतक एक भी गंभीर मरीज के नहीं मिलने से स्वास्थ्य विभाग के साथ ही आम लोगों ने भी राहत की सांस ली है। 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here