BJP is not giving ticket to Baba only then God is coming in dreams Akhilesh attacks CM Yogi


अखिलेश यादव ने रविवार को सीएम योगी पर कई हमले किये। अखिलेश यादव ने सीएम योगी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें बीजेपी टिकट ही नहीं दे रही है, इसलिए वह लोग सपने में भगवान के आने की बात कह रहे हैं। अखिलेश ने यहां तक कहा कि योगी भाजपा के सदस्य ही नहीं हैं। 

एक न्यूज चैनल से बात करते हुए अखिलेश यादव से पूछा गया कि आपके सपने में तो भगवान कृष्ण आ रहे हैं. आप राम-परशुराम वोट के लिए नहीं कर रहे हैं? इस पर अखिलेश यादव ने कहा, ‘बात अधूरी नहीं होनी चाहिए। हमारे बाबा मुख्यमंत्री जी को भारतीय जनता पार्टी टिकट नहीं दे रही।

अखिलेश ने कहा कि अक्सर हमें सुनने को मिलता है और अखबारों में पढ़ने को मिलता है कि कभी यहां से लड़ेंगे, कभी वहां से लड़ेंगे. एक किसी व्यक्ति के सपने में भगवान आए और उन्होंने पत्र लिख दिया और उनके लिए टिकट मांगी.’। अखिलेश यादव ने कहा कि अगर भगवान किसी के सपने में आ रहे थे तो यह बात बीजेपी ने शुरू की। सवाल यह है कि मुख्यमंत्री को कोई टिकट नहीं दे रहा है। इससे बड़ा दुर्भाग्य क्या हो सकता है।

वह जब सपा सुप्रीमो से पूछा गया कि क्या मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को टिकट का खतरा है, तो उन्होंने कहा, ‘वह टिकट मांग रहे हैं, तभी तो पत्र लिखा है.’ वह उनके गोरखपुर या अयोध्या से चुनाव लड़ने की खबर पर अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी उन्हें कहां टिकट देगी। वह तो भाजपा के सदस्य ही नहीं हैं। 

विधायक जनता के बीच कूटे जा रहे हैं

उन्होंने आरोप लगाया कि योगी सरकार राज्य के लोगों को कोरोनाकाल में ऑक्सीजन नहीं दे पाए, सड़कों पर Ox (बैल) छोड़ दिए। सड़कों पर ऐसी कितनी मौतें हो रही हैं। अभी मैंने अखबार में पढ़ा कि एक आदमी को सड़क पर दैड़ाकर मार डाला। उन्होंने कहा कि राज्य में बीजेपी की ऐसी स्थिति हो गई है कि विधायक जनता के बीच कूटे जा रहे हैं।

अखिलेश यादव ने साथ ही दावा किया कि एक रंग वाले एक ही रंग सोच सकते हैं। इस बार होली हर रंग की होगी। होली हर रंग की अच्छी होती है। इस बार जनता चुनाव लड़ रही है। उन्होंने कहा कि आप वोट डालने जाएंगे तो क्या प्राथमिकता होगी। बिजली सस्ती हो, जानवरों के खाने का इंतजाम हो, सड़कों पर पशु नहीं दिखे। 

यूपी में सस्ती बिजली को लेकर बीजेपी के वादे पर सपा सुप्रीमो ने कहा कि अब वे (योगी सरकार) कह रहे हैं कि बिजली का बिल आधा कर देंगे तो फिर पहले क्यों नहीं दिया। बीजेपी सरकार ने जानबूझकर गरीबों की जेब पर डाका डाला। अब दे रहे हैं इसका मतलब था कि दे सकते थे, पर दे नहीं पाए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here