cbi raid at manish sisodia house 20 places deputy cm call himself fiercely honest – मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई का छापा, एक साथ 21 जगहों पर जारी है रेड; डिप्टी सीएम बोले


दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई की टीम पहुंची है। टीम 21 जगहों पर एक साथ छापेमारी कर रही है। सूत्रों के अनुसार, सीबीआई जिन 21 ठिकानों पर छापेमारी कर रही है, उनमें दिल्ली के तत्कालीन आबकारी आयुक्त आरव गोपी कृष्ण का परिसर भी शामिल है। माना जा रहा है कि यह छापेमारी नई आबकारी नीति को लेकर की जा रही है। दरअसल, उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने पिछले दिनों सिसोदिया के खिलाफ सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। उन्होंने यह सिफारिश मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद की थी। रिपोर्ट में डिप्टी सीएम की भूमिका पर सवाल उठाए गए थे। बता दें कि आबकारी विभाग भी सिसोदिया के अधीन है।

सीबीआई छापेमारी की जानकारी खुद सिसोदिया ने ट्वीट करके दी। उन्होंने कहा कि सीबीआई आई है। उनका स्वागत है। हम कट्टर ईमानदार हैं। लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं। बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है उसे इसी तरह परेशान किया जाता है। इसीलिए हमारा देश अभी तक नंबर-1 नहीं बन पाया। 

केजरीवाल का केंद्र पर निशाना

सिसोदिया के घर सीबीआई छापेमारी पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली के शिक्षा और स्वास्थ्य मॉडल को रोकने के लिए यह छापेमारी की जा रही है। उन्होंने कहा, ‘दिल्ली के शिक्षा और स्वास्थ्य मॉडल की पूरी दुनिया चर्चा कर रही है। इसे ये रोकना चाहते हैं। इसीलिए दिल्ली के स्वास्थ्य और शिक्षा मंत्रियो पर रेड और गिरफ्तारी। 75 सालों में जिसने भी अच्छे काम की कोशिश की, उसे रोका गया। इसीलिए भारत पीछे रह गया। दिल्ली के अच्छे कामों को रुकने नहीं देंगे।’

सीएम ने आगे कहा, ‘जिस दिन अमेरिका के सबसे बड़े अखबार NYT के फ्रंट पेज पर दिल्ली शिक्षा मॉडल की तारीफ और मनीष सिसोदिया की तस्वीर छपी, उसी दिन मनीष के घर केंद्र ने CBI भेजी। CBI का स्वागत है। पूरा cooperate करेंगे। पहले भी कई जांच/रेड हुईं। कुछ नहीं निकला। अब भी कुछ नहीं निकलेगा।’

जांच में पूरा सहयोग करेंगे

सिसोदिया ने ट्वीट करके कहा, ‘हम सीबीआई का स्वागत करते हैं। जांच में पूरा सहयोग देंगे ताकि सच जल्द सामने आ सके। अभी तक मुझ पर कई केस किए लेकिन कुछ नहीं निकला। इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा। देश में अच्छी शिक्षा के लिए मेरा काम रोका नहीं जा सकता।’ उन्होंने आगे कहा, ‘ये लोग दिल्ली की शिक्षा और स्वास्थ्य के शानदार काम से परेशान हैं। इसीलिए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री और शिक्षा मंत्री को पकड़ा है ताकि शिक्षा स्वास्थ्य के अच्छे काम रोके जा सकें। हम दोनों के ऊपर झूठे आरोप हैं। कोर्ट में सच सामने आ जाएगा।’



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here