Delhi Jahangirpuri violence : Delhi Police arrests 14 people over communal clashes during Hanuman Jayanti procession


Delhi Jahangirpuri Violence : दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार को हनुमान जयंती पर निकाली गई शोभायात्रा पर पथराव के बाद भड़की हिंसा मामले में पुलिस ने अब तक 14 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें बहस के बाद हिंसा भड़काने वाले अंसार और गोली चलाने वाले असलम समेत सभी 14 आरोपियों की शिनाख्त कर ली गई है। सभी आरोपी जहांगीरपुरी के ही रहने वाले हैं। 

पुलिस वीडियो, सीसीटीवी फुटेज और मुखबिरों की मदद से बाकी अन्य आरोपियों की पहचान करने में जुटी है। पुलिस अधिकारियों ने रविवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि शनिवार शाम को दो समुदाय के लोगों के बीच पथराव हुआ और कुछ वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। हिंसा में दिल्ली पुलिस के एक सब-इंस्पेक्टर को गोली लगने समेत कुल 9 लोग घायल हो गए थे।

ये भी पढ़ें : मस्जिद के पास पहुंची शोभायात्रा, तभी आया अंसार और फिर… 

संबंधित खबरें

डीसीपी (नॉर्थ-वेस्ट) उषा रंगनानी ने बताया कि शनिवार को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 307 (हत्या का प्रयास), 120 बी (आपराधिक साजिश), 147 (दंगा) और हथियार अधिनियम की संबंधित धाराओं के तथा एफआईआर दर्ज की गई थी।

डीसीपी के मुताबिक, हिंसा में कुल नौ लोग घायल हुए हैं, जिनमें आठ पुलिसकर्मी व एक आम नागरिक शामिल है। पुलिस उपायुक्त ने बताया कि एक सब-इंस्पेक्टर को गोली लगी है और उनकी हालत स्थिर है।

जहांगीरपुरी में हिंसा मामले में 14 गिरफ्तार आरोपियों की लिस्ट

1. जाहिद (22 साल) S/O अल्फाजुद्दीन

2. अंसार  (35 साल) S/O अलाउद्दीन 

3. शहजाद (33 साल) S/O अली अकबर

4. मुक्तयार अली (28 साल) S/O समाबुल

5. मोहम्मद अली (22 साल) S/O शेख हसन 

6. आमिर (22 साल) S/O फजलुर्रहमान

7. अक्शर (26 साल) S/O शेख समाउल 

8. नूर आलम (28 साल) S/O होशियार रहमान

9. मोहम्मद असलम उर्फ खोदू (22 साल) S/O समाउल

10. जाकिर (22 साल) S/O शेख रफीक

11. अकरम  (22 साल) S/O मोहम्मद शकील

12. इम्तियाज (29 साल) S/O मोहम्मद इसराइल

13. मोहम्मद अली उर्फ जसमुद्दीन (27 साल) S/O इसराफिल 

14. अहीर (35 साल) S/O हनीफ खान 

ये भी पढ़ें : जहांगीरपुरी हिंसा : एक्शन में आई दिल्ली पुलिस,पहली FIR दर्ज

जहांगीरपुरी क्षेत्र में फिलहाल हालात सामान्य हैं। रविवार सुबह से ही घटनास्थल पर बड़ी संख्या में पुलिसबल मौजूद है और हालात पर नजर रखने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स को भी लगाया गया है।

पुलिस अराजकता फैलाने में शामिल लोगों की पहचान के लिए ड्रोन और फेस-रिकग्निशन सॉफ्टवेयर (चेहरों की पहचान करने वाली तकनीक) की मदद ली जा रही है। इसके अलावा, घटनास्थल और उसके आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे तथा मोबाइल फोन में रिकॉर्ड हुए फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

बताया जा रहा है कि किसी तरह की कोई अप्रिय घटना न हो, इसके लिए राजधानी के बाकी सभी 14 पुलिस जिलों में सुरक्षा इंतजाम बढ़ा दिए गए हैं और प्रौद्योगिकी के जरिये निगरानी की जा रही है।

ये भी पढ़ें : 50 मिनट तक उपद्रवियों के कब्जे में रहा इलाका, जानें कितने खौफनाक थे हालात  



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here