Flipkart delivers detergent soap instead of a laptop in the Big Billion Days Sale – Tech news hindi – Big Billion Days सेल में धोखा! महंगे लैपटॉप की जगह निकले घड़ी डिटर्जेंट साबुन; Flipkart ने कहा


ऑनलाइन खरीददारी से जुड़े स्कैम और प्रोडक्ट डिलीवर ना होने जैसी घटनाएं आए दिन सामने आती हैं और यही वजह है कि ग्राहकों को सावधान रहने की सलाह दी जाती है। बड़े ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म Flipkart पर Big Billion Days Sale चल रही है और इससे जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। फेस्टिव सेल में महंगा लैपटॉप मंगवाने वाले एक ग्राहक को कंपनी की ओर से घड़ी साबुन की डिलिवरी मिली है और फ्लिपकार्ट ने इसके लिए खुद ग्राहक को जिम्मेदार ठहराया है। 

फ्लिपकार्ट सेल के दौरान हुए फ्रॉड की जानकारी यशस्वी शर्मा नाम के ग्राहक ने लिंक्डइन पर दी है। यशस्वी ने बताया कि उन्होंने अपने पापा के लिए फ्लिपकार्ट से लैपटॉप ऑर्डर किया था, जिसकी डिलिवरी लेने के बाद लैपटॉप के डिब्बे में घड़ी डिटर्जेंट साबुन रखे मिले। लिंक्डइन पोस्ट में उन्होंने एक फोटो भी शेयर की और बताया कि फ्लिपकार्ट ने अपनी गलती मानने से सिरे से इनकार कर दिया। उनकी पोस्ट सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तेजी से वायरल हो रही है। 

यह भी पढ़ें: आपके पुराने फोन के बदले पैसे दे रही है फ्लिपकार्ट; यह है बेचने का तरीका

डिलिवरी लेते वक्त तुरंत नहीं खोलकर देखा बॉक्स

यशस्वी ने अपनी पोस्ट में बताया कि उन्हें बिग बिलियन डेज सेल के दौरान एक लैपटॉप ऑर्डर किया। इस लैपटॉप की डिलिवरी लेते वक्त उनके पापा ने डिलिवरी बॉय के सामने तुरंत बॉक्स नहीं खोला। बाद में पैकेज खोलने पर उन्हें अंदर घड़ी साबुन रखे मिले। इसकी शिकायत कस्टमर केयर से करने पर फ्लिपकार्ट ने उन्हें जिम्मेदार ठहराया और कहा कि कंपनी इस मामले में अब कुछ नहीं कर सकती और उन्हें ‘ओपेन बॉक्स डिलिवरी’ लेनी चाहिए थी।

फ्लिपकार्ट ने इसलिए ग्राहक को जिम्मेदार ठहराया

शॉपिंग प्लेटफॉर्म ने ग्राहक को यह कहते हुए जिम्मेदार ठहराया कि उन्हें ओपेन-बॉक्स डिलिवरी लेनी चाहिए थी। यानी कि उन्हें डिलिवरी बॉय को वन टाइम पासवर्ड (OTP) बताने से पहले बॉक्स खोलकर देखना चाहिए था कि उन्हें सही प्रोडक्ट डिलीवर हुआ है या नहीं। हालांकि, ज्यादातर ग्राहकों को इस सिस्टम की जानकारी नहीं है और डिलिवरी एजेंट अक्सर प्रोडक्ट देने से पहले ही OTP की मांग करते हैं। 

ग्राहक ने कही CCTV रिकॉर्डिंग होने की बात

बचाव में यशस्वी ने कहा कि उनके पास CCTV रिकॉर्डिंग है, जिसमें दिख रहा है कि डिलिवरी देते वक्त बॉक्स नहीं खोला गया। उन्होंने कहा कि डिलिवरी बॉय को खुद OTP मांगने से पहले बॉक्स खोलकर दिखाना चाहिए था और यह उसकी जिम्मदारी है। यशस्वी का कहना है कि उनके पापा को नए ओपेन-बॉक्स कॉन्सेप्ट की जानकारी नहीं थी और फ्लिपकार्ट पर भरोसा करना ही उनकी गलती साबित हुआ। 

यह भी पढ़ें: व्हाट्सऐप पर खतरे की घंटी हैं ये ये पांच मेसेज, कहीं आपके पास तो नहीं आए?

प्लेटफॉर्म ने किया रिफंड जारी करने का दावा

ग्राहक ने पोस्ट के कॉमेंट में कुछ अपडेट्स शेयर किए और बताया है कि उनके एक रिश्तेदार ने स्थानीय थाने में इसकी शिकायत दर्ज करवाई है। साथ ही फ्लिपकार्ट टीम ने उनसे बात करने के बाद रिफंड जारी करने की बात कही है, जो उनके अकाउंट में रिसीव नहीं हुआ है। उन्होंने दावा किया है कि उनका लैपटॉप लेकर गए डिलिवरी बॉय को खुद ओपन-बॉक्स कॉन्सेप्ट की जानकारी नहीं थी। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here