former prime minister Atal Bihari Vajpayee birth anniversary country celebrating good governance day – India Hindi News


Atal Bihari Vajpayee Birth Anniversary:  बात साल 1999 की है। तब लाहौर बस यात्रा के दौरान अपने एक भाषण में अटल बिहारी वाजपेयी ने भारत-पाकिस्तान के बीच शांति की जोरदार अपील की थी। इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने पूरी गर्मजोशी के साथ अटल बिहारी वाजपेयी का अभिनंदन किया। तब वहां मौजूद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने हंसते हुए कहा था, ‘वाजपेयी साहब, अब तो आप पाकिस्तान में भी चुनाव जीत सकते हैं।’ दरअसल उस वक्त लाहौर में गर्वनर हाउस में हुए स्‍वागत समारोह में अटल ने अपनी कविता ‘अब जंग नहीं होने देंगे हम’ पढ़ी थी। अटल की कविता और लाहौर फोर्ट पर उनके भाषण ने पाकिस्‍तान के लोगों का दिल जीत लिया। इस पर नवाज शरीफ ने कहा, वाजपेयी साहब अब तो पाकिस्‍तान में भी चुनाव जीत सकते हैं।

ये बात और है कि भारत ने जब-जब पाकिस्तान की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया, पड़ोसी मुल्क ने इसे रक्तरंजिश किया। अटल बिहारी वाजपेयी की कोशिशें जारी थीं लेकिन पाकिस्तान ने करगिल युद्ध छेड़ अपनी दगाबाजी से दोस्ती, भाईचारे, अमन और चैन की सारी कोशिशों को तहस-नहस किया।  आज इस बेमिसाल शख्सियत का जन्मदिन है और उनके जन्मदिन को पूरे देश में सुशासन दिवस के तौर पर भी मनाया जा रहा है। 

अटल बिहारी वाजपेयी साल 1996 में पहली बार देश के प्रधानमंत्री बने लेकिन, संख्याबल नहीं होने के चलते यह सरकार महज 13 दिन में 1996 को गिर गई। वह 1998 में दोबारा पीएम बने। लेकिन, 13 महीने बाद 1999 की शुरुआत में उनके नेतृत्व वाली सरकार दोबारा गिर गई। इसके बाद 1999 में ही उनके नेतृत्व में 13 दलों की गठबंधन सरकार बनी, जिसने सफलतापूर्वक पांच साल का कार्यकाल पूरा किया।

परमाणु परीक्षण से लेकर करगिल युद्ध तक

बतौर पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली सरकार ने 11 और 13 मई 1998 को पोखरण में पांच भूमिगत परमाणु परीक्षण विस्फोट करके भारत को परमाणु शक्ति संपन्न देश घोषित किया था। उन्होंने पाक से संबंध सुधारने के उद्देश्य से 19 फरवरी 1999 को सदा-ए-सरहद नाम से दिल्ली से लाहौर तक बस सेवा शुरू की थी। साल 1990 में अटल सरकार के कार्यकाल में करगिल युद्ध में पाक के अवैध कब्जे से भारत भूमि को छुड़ाया। स्वर्णिम चतुर्भुज परियोजना, जिसने भारत के चारों कोनों को सड़क मार्ग से जोड़ा, इसकी शुरुआत वाजपेयी के कार्यकाल में हुई। इसके अंतर्गत दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई को राजमार्गों से जोड़ा गया।

कई रचनाएं हैं मशहूर

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ था। उनके पिता ग्वालियर रियासत में शिक्षक थे। 25 दिसंबर 1924 को वाजपेयी का जन्म हुआ था। उनके पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के मूल निवासी थे। अपनी शख्सियत से कई लोगों को अपना मुरीद बना देने वाले पूर्व पीएम जितने बेहतरीन वक्ता थे उनते ही बेहतरीन लेखक भी। उनकी कई रचनाएं मसलन- रग-रग हिंदू मेरा परिचय, मृत्यु या हत्या, अमर बलिदान, अमर आग है, लोगों के बीच काफी मशहूर हुईं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here