madhya pradesh news Congress demands cancellation of teacher exam tet claiming paper was leaked bhopal district – मध्य प्रदेश: TET परीक्षा रद्द हो, कांग्रेस ने उठाई मांग; परीक्षार्थी बोले


मध्य प्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) के पेपर लीक होने के मामले में विवाद बढ़ता जा रहा है। सोशल मीडिया पर इसकी काफी चर्चा हो रही है। टीईटी परीक्षा के एक उम्मीदवार ने 25 मार्च को इस संबंध में बड़ा दावा किया था।  अभ्यर्थी मदन मोहन डोहारे ने दावा किया था कि जब वो परीक्षा देकर भोपाल से वापस लौट रहे ते तब राजस्थान के धौलपुर के एक युवक ने उन्हें पेपर का स्क्रीनशॉट दिखाया। यह पेपर उन्हें लक्ष्मण सिंह ने दिया था। इसके बाद डोहारे ने सोशल मीडिया पर यह स्क्रीनशॉट शेयर किया था।

इसके बाद कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने मुख्यमंत्री के ओएसडी लक्ष्मण सिंह मकराम पर आरोप लगाया था कि वो इस पेपर लीक के पीछे हैं। व्यापमं घोटाले के व्हिलस्लिब्लोओर डॉक्टर आनंद राय ने भी इस मामले में मांग की थी कि सोशल मीडिया पोस्ट में जिस लक्ष्मण सिंह का जिक्र किया गया है वो कौन हैं…इसकी जांच होनी चाहिए। 

गड़बड़ी के खिलाफ प्रदर्शन

संबंधित खबरें

इसके बाद रविवार को लक्ष्मण सिंह ने मिश्रा और राय के खिलाफ पुलिस के पास एससी/एसएसटी की धाराओं के तहत शिकायत दर्ज कराते हुए कहा था कि यह आरोप उनकी छवि धूमिल करने के लिए लगाए गए हैं। सोमवार को टीईटी परीक्षा के अभ्यर्थियों ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ बोर्ड ऑफिस के सामने प्रदर्शन किया और परीक्षा को रद्द करने की मांग की है।

अभ्यर्थी बोले- सबूत है

नाम ना बताने की शर्त पर एक अभ्यर्थी ने कहा, यह स्क्रीनशॉट इस बात के सबूत हैं कि पेपप लीक हुआ था। परीक्षा केंद्र पर मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों के इस्तेमाल की मनाही थी। तो फिर आखिर एजेंट को स्क्रीनशॉट कैसे मिला। यह सोच समझ कर किया गया घोटाला है और इसकी जांच होनी चाहिए। हम परीक्षा को रद्द करने की मांग कर रहे हैं।

कॉन्स्टेबल परीक्षा की रिजल्ट में गड़बड़ी का आरोप

अभी हाल ही में जो छात्र कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा में शामिल हुए थे वो लोग भी इस प्रदर्शन में शामिल है और उन्होंने रिजल्ट को फिर से घोषित किये जाने की मांग की थी। कॉन्स्टेबल परीक्षा के उम्मीदवार विकास मीणा ने कहा, ‘जब 24 मार्च को कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा के परिणाम जारी हुए थे, तब मेरा नाम पास करने वाले उम्मीदवारों की लिस्ट में था। 12 घंटे बाद जब मैंने अपना रिजल्ट दोबारा चेक किया तब मैंने देखा कि मेरा नाम पास करने वाले उम्मीदवारों की सूची में नहीं है। यह कैसे हुआ, मैं नहीं जानता…लेकिन यह मेरे लिए चकित करने वाला है।’ एक अन्य महिला उम्मीदवार ने भी यही दावा किया।

कांग्रेस ने उठाई यह मांग

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के राज्य अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा, ‘राज्य सरकार को इस मामले में एक साफ-सुथरी जांच करवानी चाहिए। लेकिन उम्मीदवारों का सिस्टम से भरोसा उठ रहा है। यह बेरोजगारों के भविष्य का मामला है।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘कुछ लोगों ने मुख्यमंत्री की छवि खराब करने के लिए यह साजिश रची है। हमें शिकायत मिलेगी, तब हम इस मामले की जांच करेंगे।’ वहीं बोर्ड के अध्यक्ष आईसीपी केसरी ने कहा, ‘हम टीईटी मामले की जांच कर रहे हैं, लेकिन शुरुआती जांच में हमें किसी गड़बड़ी का पता नहीं चला है।’ उन्होंने यह भी कहा कि कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा के पहले फेज के परिणाम में किसी तरह की कोई गड़बड़ी नहीं हुई है। यह रिजल्ट सिर्फ एक ही बार जारी किया गया है।  

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here