Om Raut Reaction on adipurush Trolls Memes and reveals the reason behind prabhas Saif ali Khan and kriti sanon Movie – Entertainment News India – जानें क्यों रखा प्रभास और सैफ अली खान की फिल्म का नाम ‘आदिपुरुष’? ट्रोल्स


अजय देवगन (Ajay Devgn) स्टारर फिल्म तानाजी (Tanhaji) फेम निर्देशक ओम राउत (Om Raut) इन दिनों फिल्म आदिपुरुष (Adipurush) को लेकर खूब खबरों में बने हुए हैं। प्रभास (Prabhas), सैफ अली खान (Saif Ali Khan), कृति सेनन (Kriti Sanon) और सनी सिंह (Sunny Singh) स्टारर फिल्म आदिपुरुष (Adipurush Teaser) का टीजर हाल ही में रिलीज हुआ जिसे दर्शकों से मिक्स रिस्पॉन्स मिला। टीजर को सोशल मीडिया पर कई वजहों से ट्रोल भी किया जा रहा है। ऐसे में इस पर ओम राउत ने रिएक्ट किया है।

फिल्म का नाम आदिपुरुष क्यों?

बीते दिन कुछ पत्रकारों को फिल्म आदिपुरुष का 3डी टीजर दिखाया गया, जिसे पसंद किया गया। इस दौरान ओम राउत से सवाल पूछा गया कि फिल्म का नाम आदिपुरुष ही क्यों रखा गया.. रामायण या फिर मर्यादापुरुषोत्तम राम आदि क्यों नहीं? इस पर ओम कहते हैं, ‘अगर आप ध्यान दें तो हमारी रामायण ऐसी नहीं है जिसे आप सिर्फ 3 घंटे में खत्म कर सकें। रामायण में प्रभु राम के साथ ही साथ मां सीता और अन्य सभी की भी जिंदगी से रूबरू करवाया गया है और सिर्फ तीन घंटे में ऐसा करना मुश्किल है। इसलिए फिल्म में सिर्फ एक ही भाग पर ज्यादा फोकस है और वो है सीता मां के हरण से रावण वध तक। रामायण को जिस नजर से ओम राउत 10 साल पहले देखता था, आज वैसे नहीं देखता और शायद आने वाले दस साल बात मेरा नजरिया अलग हो। ये शायद सभी के साथ है, तो जिन राम को मैं फिल्म में देख और दिखा रहा हूं, वो पराक्रमी हैं, उत्तम से भी उत्तम हैं, गुणों में सर्वोत्तम हैं। तो यहां पर फिल्म में आदि का मतलब शुरुआती नहीं बल्कि सर्वोपरी है।

मीम्स और ट्रोल्स पर रिएक्शन

आदिपुरुष का टीजर पहले अयोध्या में लॉन्च किया था, जिसके बाद फिल्म को सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया जा रहा है। एक ओर जहां सोशल मीडिया यूजर्स ने फिल्म में कई गलतियां निकाली हैं तो दूसरी ओर वीएफएक्स और रावण बने सैफ अली खान के लुक्स को लेकर भी काफी तीखा रिएक्शन देखने को मिल रहा है। इस बारे में ओम राउत ने जर्नलिस्ट्स से बात करते हुए कहा कि वो निराश हैं, हालांकि कहीं न कहीं उन्हें इस बात की उम्मीद थी। ओम राउत कहते हैं- ‘

‘कोविड का टाइम अलग था, जब सिनेमा की जरूरत थी कि लोगों को एंटरनेट करें, वरना वो वक्त और मुश्किल हो जाता। लेकिन अब बड़े पर्दे पर ऑडियंस को वापस लाना जरूरी है।मुझे मोबाइल के लिए फिल्में बनाना नहीं आता है। मैं चाहता हूं कि ये फिल्म सभी लोग कोशिश करके 3डी में देखें, जो तानाजी के साथ हुआ था। आदिपुरुष उस जनरेशन के लिए अधिक है, जो प्रभु राम और उनकी बातों से जुड़ी नहीं है और ये मार्वेल्स वाली जनरेशन को हमें उस अंदाज में ही हमारी बातें सिखानी होंगी जिससे वो कनेक्ट कर सके।’ ओम ने ये भी कहा कि कहीं न कहीं जरूरत और मजबूरी है, वरना वो यूट्यूब पर फिल्म का टीजर ट्रेलर रिलीज नहीं करते।

आदिपुरुष पर सेलेब्स के रिएक्शन

बता दें कि आदिपुरुष टीजर पर सेलेब्स के भी रिएक्शन आ रहे हैं। रामानंद सागर की रामायण में सीता का किरदार निभाने वालीं दीपिका चिखलिया ने इंडिया टुडे के साथ बातचीत में कहा, ‘मैंने आदिपुरुष का टीजर देखा है। मुझे लगता है कि रामायण एक ऐसी कहानी है जो सच्चाई की कहानी है और सात्विक की कहानी है।मुझे लगता है कि रामायण के साथ वीएफएक्स नहीं होना चाहिए। यह मेरा निजी विचार है। लोग कह रहे हैं हनुमान जी ने कैसे लेदर पहना हुआ है, टीजर में मुझे इतना साफ कुछ नजर नहीं आया। अगर ऐसा है तो मुझे लगता है जिस सच्चाई के साथ वाल्मिकी जी और तुलसी जी ने ग्रंथ में कहानी लिखी है, मुझे लगता है उसको हमें वैसा ही रखना चाहिए क्योंकि ये हमारे देश की धरोहर है।’ वहीं मुकेश खन्ना ने कहा, ‘सैफ अली खान ने जब रावण का रोल करते हुए कहा था कि मैं इसे ह्यूमर का रूप देना चाहता हूं तभी मैंने इस पर अपनी प्रतक्रिया दी थी। बात जब रामायण की करते हैं तो इसका मतलब है कि रामायण का फायदा उठाना चाहते हैं। आप कौन होते हैं हमारे धर्म का मजाक उड़ाने वाले। अपने धर्म पर कुछ कहकर दिखाइए। है आपकी हिम्मत? ऐसे वक्त में जब फिल्मों का जगह-जगह बायकॉट हो रहा है आप फिर से ऊंगली दे रहे हैं तो लोग हाथ तो पकड़ ही लेंगे। आप धर्म का मजाक उड़ाते हुए दिख रहे हैं। ना राम, राम की तरह दिख रहे हैं। ना हनुमान, हनुमान की तरह दिख रहे हैं। ना रावण, रावण लग रहा है। फिर आप इसे अभिव्यक्ति की आजादी कहेंगे। आप इसे अपने धर्म पर करके दिखाइए।‘ ‘

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here