One in five two wheelers sold by FY23 will be an EV said Ather Energy founder and CEO Tarun Mehta – EV बनाने वाली कंपनी के CEO ने कहा


देश भर के अगल-अलग शहरों से इलेक्ट्रिक व्हीकल (EV) में आग लगने का हादसे हो रहे हैं। ये सभी मामले इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर से जुड़े रहे हैं। ऐसे में अब सरकार भी एक्शन में आ चुकी है। सरकार ने साफ किया है कि किसी भी टू-व्हीलर में आग लगने पर उस कंपनी के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। इलेक्ट्रिक व्हीकल (Electric Vehicles) के क्वालिटी से जुड़ी गाइलाइन भी जारी की जाएगी। इस बीच, EV बनाने वाली कंपनी एथर एनर्जी (Ather Energy) के फाउंडर और CEO तरुण मेहता ने कहा है कि फाइनेंशियल ईयर FY23 EV टू-व्हीलर के लिए अच्छा रहेगा। इस साल बिकने वाले हर 5 टू-व्हीलर में से एक इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर होगा। साथ ही, ओवरऑल टू-व्हीलर मार्केट में इसकी हिस्सेदारी 20% तक पहुंच जाएगी।

सालभर में EV सेगमेंट का बाजार 30% तक होगा

तरुण ने बताया कि Electric Vehicles की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। अब इसमे बिक्री में तीन गुना तक तेजी आई है। छह महीने के अंदर ई-स्कूटर सेगमेंट में बाजार 3% से बढ़कर 12% तक चला गया है। उम्मीद है कि अगले 12 से 18 महीने में बाजार 25 से 30% तक पहुंच जाएगा। उन्होंने कहा कि EV बाजार ने भारत में पिछले नौ सालों में लंबा सफर तय किया है। खरीदार पहले जहां EV खरीदने को लेकर झिझकने थे, लेकिन अब इसके लिए कतार में खड़े हैं। हमने 2013 में एथर एनर्जी को शुरू किया था। तब से अब तक लोगों के ये समझाने में बहुत टाइम लगा कि इलेक्ट्रिक कोई खिलौना नहीं है।

ये भी पढ़ें- Electric Scooters में क्यों लग रही आग? एक्सपर्ट से समझें इसकी वजह और सेफ्टी टिप्स

संबंधित खबरें

छोटे शहरों में ईवी की डिमांड ज्यादा

तरुण ने बताया कि इलेक्ट्रिक व्हीकल की डिमांड 2 टियर और 3 टियर शहरों में ज्यादा आई है। इसकी बड़ी वजह है कि वहां पर लोगों के स्वतंत्र घर होते हैं। उन्हें गाड़ी की चार्जिंग को लेकर किसी तरह की परेशानी नहीं होती। वे घर बाहर तक चार्जिंग यूनिट को आसान से सेटअप कर पाते हैं। जबकि महानगरों में इसे लेकर काफी चेलैंज होता है। खासकर फ्लैट में रखने वालों के लिए चार्जिंग यूनिट सेटअप करना आसान नहीं होता। हालांकि, अब महानगरों में चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर बेहतर हो रही है। ऐसे में इस साल यहां भी इसकी डिमांड बढ़ने की उम्मीद है।

बैटरी में आग के लिए चीन जिम्मेदार

टू-व्हीलर की बैटरी में आग लगने वाली घटनाओं पर तरुण ने कहा कि ईवी में आग लगने के मामले अच्छा संकेत नहीं है। हालांकि, इसके लिए उन्होंने लिथियम ऑयन बैटरी पर होने वाले एक्सपेरिमेंट को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने बताया कि भारत में बैटरी चीन, कोरिया और ताइवन से आ रही हैं, लेकिन इन बैटरी को बेहतर तरीके से डिजाइन नहीं किया गया है। बैटरी में आग लगने की बड़ी वजह उसकी क्वालिटी है। ऐसे में चीन के साथ दूसरे देश इसके लिए ज्यादा जिम्मेदार हैं। पहले ई-स्कूटर लेड-एसिड बैटरी से चलते थे, तब उनमें किसी तरह की प्रॉब्लम नहीं आती थी।

ये भी पढ़ें- बार-बार देखने के बाद भी इस नई कार के इंटीरियर से मन नहीं भरेगा, 4.6 सेकेंड में पकड़ लेगी 100km/h की स्पीड

EV टू-व्हीलर सेगमेंट में हीरो सबसे आगे

2021 में EV टू-व्हीलर सेगमेंट हीरो इलेक्ट्रिक का दबदबा रहा। कंपनी ने इस पूरी साल में 46260 यूनिट बेची और उसका मार्केट शेयर 30% रहा। इसके बाद ओकिनावा 29945 यूनिट की बिक्री और 20% मार्केट शेयर के साथ दूसरे नंबर पर रही है। तीसरे नबंर पर एथर रही। उसने 15921 यूनिट की बिक्री की। वहीं मार्केट शेयर 11% रहा। एम्पेयर व्हीकल 12470 यूनिट की बिक्री और 8% मार्केट शेयर के साथ नंबर चार पर रही। वहीं, प्योर ईवी 11039 यूनिट की बिक्री और 7% बाजार हिस्सेदारी के साथ पांचवें स्थान पर रही। अन्य कंपनी के पास 24% मार्केट शेयर रहा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here