Pakistan Dawat-e-Islami link emerges in Udaipur beheading incident says investigations


उदयपुर के दर्जी कन्हैया लाल की नृशंस हत्या की जांच ने उसके हत्यारों के खासकर कराची स्थित दावत-ए-इस्लामी के साथ एक अंतरराष्ट्रीय संबंध की ओर इशारा किया है। जांच के अनुसार, विभिन्न आरोपियों ने लगातार विदेश यात्राएं की थीं। गौस मोहम्मद जिसने रियाज अख्तरी के साथ कन्हैया लाल का सिर कलम किया था, उसे दावत-ए-इस्लामी के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने 2014 में पाकिस्तान बुलाया था।

कराची स्थित दावत-ए-इस्लामी का उद्देश्य विश्व स्तर पर शरिया की वकालत करने के उद्देश्य से कुरान और सुन्नत की शिक्षाओं का प्रसार करना है। पाकिस्तान में इसकी बहुत बड़ी तादाद है और यह इस्लामिक देश में ईशनिंदा कानून का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है।

जांच अधिकारियों के मुताबिक, गौस मोहम्मद 40 दिनों तक कराची में रहा। वह 2013 और 2019 में उमराह के लिए सऊदी अरब गया था। अन्य आरोपी भी सऊदी अरब समेत विदेश यात्रा कर चुके हैं।

उदयपुर सिर काटने की घटना : कोर्ट ने चारों आरोपियों को 10 दिन की NIA की रिमांड में भेजा

जहां गौस मोहम्मद को कराची में दावत-ए-इस्लामी के पदाधिकारियों द्वारा ट्रेनिंग दी गई थी, वहीं दूसरा हत्यारा रियाज अख्तरी कथित तौर पर राजस्थान की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की माइनॉरिटी सेल में शामिल होने की कोशिश कर रहा था। जांच से यह भी पता चला है कि दावत-ए-इस्लामी के नेता इलियास अत्तर कादरी का अनुयायी रियाज अख्तरी मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं संग करीबी बढ़ाने की कोशिश कर रहा था। उसने भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के सदस्य इरशाद चैनवाला और भाजपा कार्यकर्ता ताहिर रजा खान को निशाना बनाने के लिए उनके करीब जाने का प्रयास किया था।

अख्तरी ने कथित तौर पर अपने इस उद्देश्य के लिए भाजपा दफ्तरों और पार्टी के पदाधिकारियों की रेकी की थी। भाजपा ने अख्तरी के भगवा पार्टी से जुड़े होने के कांग्रेस के आरोपों और अख्तरी के साथ किसी भी संबंध से इनकार किया है।

पूछताछ के दौरान आरोपी रियाज अख्तरी ने भाजपा में शामिल होने या भगवा पार्टी के नेताओं को निशाना बनाने की कोशिश के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा। दोनों आरोपी एनआईए की हिरासत में हैं। दिल्ली और राजस्थान के आंतरिक सुरक्षा विशेषज्ञों के मुताबिक, न तो अख्तरी और ना ही गौस मोहम्मद ने बीजेपी नेताओं को निशाना बनाने के लिए अपनी ओर से किसी बड़ी साजिश का खुलासा किया है।

बता दें कि, जयपुर स्थित राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) कोर्ट ने शनिवार को उदयपुर हत्याकांड मामले में गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों मोहम्मद रियाज अख्तरी, गौस मोहम्मद और उनके साथी आसिफ और मोहसिन को 10 दिन की NIA रिमांड में भेज दिया है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here