Parthiv Patel wants MS Dhoni to open amid CSK horrendous campaign in IPL 2022


चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 15वां सीजन अब तक सबसे खराब गुजरा है। टीम को अपने पहले चारों मैचों में हार का सामना करना पड़ा है और उसे अभी भी पहली जीत की तलाश है। फैंस को भी लगने लगा है कि चेन्नई अब शायद ही प्लेऑफ में जगह बना पाएगी। इस बीच, पूर्व भारतीय विकेटकीपर-बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने चेन्नई की वापसी के लिए एक अलग ही तरह का सुझाव दिया है। सीएसके के पूर्व बल्लेबाज पार्थिव पटेल का मानना है कि मौजूदा चैं​पियन को इस सीजन में वापसी करने के लिए कुछ अलग करना होगा।

डेविड वॉर्नर ने घर वापसी पर रचा इतिहास,ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज बने

पार्थिव पटेल ने क्रिकबज पर कहा, ‘ वह एक ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्होंने पिछले कुछ वर्षों में सीएसके की टीम को पुनर्जीवित किया है। एमएस धोनी ने अपने करियर की शुरुआत बतौर ओपनर की थी, तो क्यों न अपने करियर के अंतिम पड़ाव में वह फिर से इस भूमिका को करेंगे? वह अभी सातवें नंबर पर बल्लेबाजी कर रहे हैं और मुश्किल से 10-15 गेंद खेलते हैं। तो क्यों न धोनी नंबर 3 पर या नंबर 4 पर या फिर ओपनिंग में बल्लेबाजी करें? अगर वह 14-15 ओवर तक वहां रहते हैं तो कुछ भी हो सकता है। आपको कुछ अलग करना होगा।’

सैमसन ने बताया अश्विन का ‘रिटायर्ड आउट’ होने के पीछे किसका आइडिया था?

धोनी ने हालांकि T20 क्रिकेट में कभी ओपनिंग नहीं की है। उन्होंने करीब 17 साल पहले वनडे में बतौर ओपनिंग बल्लेबाजी की थी। पार्थिव पटेल ने कहा कि धोनी ने कई चुनौतीपूर्ण पिचों पर रन बनाए हैं। सीएसके की टीम सीजन के अपने पांचवें मैच में मंगलवार को नवी मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम से भिड़ेगी, जहां उसकी कोशिश इस सीजन अपनी पहली जीत दर्ज करने की होगी।

चहल ने उमेश से छीनी पर्पल कैप, टॉप-3 में ‘KUL-CHA’ ने मारी एंट्री

संबंधित खबरें

37 साल के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा, ‘जब भी भारत ने सीमिंग कंडिशंस में खुद को परेशानी में पाया है, तो धोनी ने रन बनाए हैं। चाहे वह श्रीलंका के खिलाफ हो, जहां उन्होंने धर्मशाला में 80 रन बनाए थे या चेन्नई में पाकिस्तान के खिलाफ, जहां उन्होंने शतक बनाया था। तकनीक के कारण हर कोई सोचता होगा कि वह सीमिंग विकेट पर संघर्ष करेंगे। लेकिन ये उनकी अपनी तकनीक है और वह जानते हैं कि खुद को इसमें कैसे जीवित रखना है।’ 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here