Positive news India to push ahead with six airbags in cars despite resistance


वाहन चलाने वालों को होगा जबरदस्त फायदा, मंत्रालय ने दी बड़ी जानकारीसड़क परिवहन मंत्रालय कुछ कार बनाने वाली कंपनियों के विरोध के बावजूद सभी पैसेंजर्स व्हीकल गाड़ियों में छह एयरबैग लगाने के अपने फैसले को आगे बढ़ा रहा है, जिसपर कई कार कंपनियों ने इस फैसले से गाड़ियों  की कीमत में वृद्धि होने की बात कही थी। एक वरिष्ठ सरकारी सूत्र ने रायटर को यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा, “सुरक्षा पर कोई समझौता नहीं है। मंत्रालय नियमों को अंतिम रूप दे रहा है, जिसे अधिसूचित होने में कुछ समय लगेगा।”

यह भी पढ़ें- ताबड़तोड़ बिकी ये गाड़ी, ग्राहकों ने खूब लुटाया प्यार, कीमत बस इतनी

यह भी पढ़ें- लॉन्च हुई मारुति की सबसे लग्जरी गाड़ी, इनको देगी टक्कर, देखें कीमत और फीचर्स

संबंधित खबरें

सभी गाड़ियों में 6 एयरबैग जरूरी

मंत्रालय ने जनवरी में ड्राफ्ट गाइडलाइन जारी किए थी जिसमें 1 अक्टूबर से सभी नई कारों में छह एयरबैग, चार पैसेंजर एयरबैग और दो साइड या कर्टेन एयरबैग शामिल करने की बात कही गई थी। एक महीने बाद नियमों को अंतिम रूप देने की उम्मीद थी, लेकिन अभी भी ऑटो कंपनियों से फीडबैक को देखा जा रहा है।

आम आदमी नहीं खरीद पाएगा गाड़ी?

भारत की सबसे बड़ी कार बनाने वाली कंपनी ने रॉयटर्स को बताया कि इस तरह के नियम से छोटी कारों को और अधिक महंगा बना दिया जाएगा और कुछ संभावित खरीदारों को दूर कर दिया जाएगा, जो एक वाहन के लिए अधिक खर्च नहीं कर सकते।

यह भी पढ़ें- इंतजार खत्म, Kia इसदिन शुरू करेगी अपनी EV6 की बुकिंग, टाटा नेक्सोन ईवी को देगी टक्कर

इतनी होगी कीमत में वृद्धि

सभी कारों में ड्राइवर और फ्रंट पैसेंजर एयरबैग पहले से ही अनिवार्य हैं। सरकार का अनुमान है कि चार और एयरबैग जोड़ने पर 75 डॉलर से अधिक की लागत नहीं आएगी। हालांकि, ऑटो मार्केट डेटा देने वाले जाटो डायनेमिक्स का अनुमान है कि यह लागत में कम से कम 231 डॉलर की वृद्धि कर सकता है।

उन्होंने कहा कि कुछ कंपनियां एडिशनल एयरबैग वाली गाड़ियों को एक्सपोर्ट करती हैं लेकिन भारत में वे जो मॉडल बेचती हैं, जो केवल न्यूनतम जरूरत को पूरा करती हैं। इसके अलावा, कारों के टॉप-एंड वेरिएंट में आमतौर पर चार या अधिक एयरबैग लगे होते हैं, लेकिन बेस मॉडल में आमतौर पर सिर्फ दो होते हैं, जिससे लोगों को अपनी सुरक्षा के लिए ज्यादा पैसा देना पड़ता है।

बच जाती इतने लोगों की जान

मंत्रालय का अनुमान है कि सीट बेल्ट के साथ एयरबैग होने से 2020 में सड़क दुर्घटनाओं में आमने-सामने या साइड की टक्कर से मरने वाले 39,000 लोगों में से कम से कम एक तिहाई लोगों की जान बच जाती।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here