r madhvan speaks on why films like laal singh chaddha are not working says peoples liking changed post covid – Entertainment News India – आर माधवन ने बताया क्यों नहीं चल पाई लाल सिंह चड्ढा, बोले


आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हो चुकी है। वहीं अक्षय कुमार की मूवी रक्षा बंधन को भी दर्शक नहीं मिले। सोशल मीडिया पर बॉलीवुड फिल्मों का बॉयकॉट चल रहा है। वहीं कई लोग हिंदी वर्सस साउथ पर भी डिबेट कर रहे हैं। बॉलीवुड के कैंसिल कल्चर पर अब तक कई लोगों के बयान आ चुके हैं। अब आर माधवन भी इस पर बोले हैं। उनका कहना है कि अगर अच्छी फिल्में बनेंगी तो चलेंगी भी। आर माधवन ने यह भी कहा कि कोविड-19 के बाद लोगों की पसंद थोड़ी बदली है। इस लिहाज से थोड़ा प्रोग्रेसिव होना पड़ेगा। माधवन लाल सिंह चड्ढा पर भी बोले।

बॉलीवुड फिल्मों का बुरा हाल

आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा में करीना कपूर, आमिर खान और नागा चैतन्य जैसे बड़े स्टार्स थे फिर भी बॉक्स ऑफिस पर बुरा हाल हुआ। मूवी छह दिनों में 50 करोड़ रुपये का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाई। वहीं बीते कुछ वक्त में कई फिल्मों का यही हाल हुआ। अक्षय कुमार की रक्षा बंधन, सम्राट पृथ्वीराज, शमशेरा सहित कई मूवीज बॉक्स ऑफिस पर पानी मांगती दिखीं। दूसरी ओर पुष्पा, आरआरआर, केजीएफ चैप्टर 2, विक्रम और विक्रांत रोणा जैसी फिल्मों ने अच्छी कमाई की। इन फिल्मों के हिंदी वर्जन्स का जबरदस्त बज रहा। अब इस मुद्दे पर आर माधवन भी बोले।

लाल सिंह चड्ढा में लगी मेहनत

बुधवार को धोखा- राउंड द कॉर्नर के टीजर लॉन्च पर आर माधवन से पूछा गया कि लाल सिंह चड्ढा जैसी बड़ी फिल्म अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाई, इस पर क्या कहेंगे। माधवन ने जवाब दिया, अगर हमें पता होता तो हम सब हिट फिल्में बना लेते। कोई यह नहीं सोचता कि हम गलत फिल्म बना रहे हैं। इस फिल्म (लाल सिंह चड्ढा) के पीछे भी उतनी ही मेहनत और लगन थी जितनी हर फिल्म के लिए ऐक्टर करते हैं। इसलिए जितनी भी बड़ी फिल्में रिलीज होती हैं, मकसद यही होता है कि अच्छी फिल्म बने और चले। 

नहीं चल रहीं साउथ फिल्में

आर माधवन ने कहा कि साउथ फिल्में बहुत अच्छा परफॉर्म कर रही हैं, यह परसेप्शन गलत है क्योंकि साउथ इंडस्ट्री की कुछ ही फिल्में चली हैं। माधवन ने कहा कि इसे पैटर्न नहीं कहा जा सकता। साउथ फिल्मों पर माधवन बोले, जहां तक साउथ फिल्मों की बात है, बाहुबली 1, बाहुबली 2, RRR, पुष्पा, KGF: Chapter 1 और KGF: Chapter 2 ही ऐसी फिल्में थीं जिन्होंने हिंदी फिल्म ऐक्टर्स वाली फिल्मों से ज्यादा कमाई की। ये सिर्फ छह फिल्में हैं। इन्हें हम पैटर्न नहीं कह सकते। अगर अच्छी फिल्म आएगी तो चलेगी जरूर।

बदल गई लोगों की पसंद

आर माधवन ने बताया कि हिंदी फिल्में क्यों नहीं चल पा रहीं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के बाद लोगों की पसंद और प्रिफरेंस बदल गई है…अगर हम चाहते हैं कि लोग फिल्में देखें तो हमें ऐसी फिल्में बनानी होंगी जो कि थोड़ी  प्रोग्रेसिव हों। ये भी पढ़ें: फ्लॉप फिल्मों पर अनुराग कश्यप की भड़ास- लोगों के पास खर्च करने के लिए पैसे नहीं, फिल्म कहां से देखें



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here