raksha bandhan 2022 movies you can watch with your brother sister – Entertainment News India


11 अगस्त को रक्षाबंधन है और इस त्यौहार पर सभी भाई-बहन एक-दूसरे के साथ इस खास दिन को सेलिब्रेट करते हैं। बहनें, भाई को राखी बांधती हैं और उनकी लंबी उम्र के लिए दुआ करती हैं। वहीं भाई, बहनों को स्पेशल गिफ्ट देते हैं। अब इस रक्षाबंधन को अगर आप अपने परिवार के साथ घर पर सेलिब्रेट कर रहे हैं तो आप अपने भाई-बहनों के साथ घर बैठे इन फिल्मों को देखकर और खास बना सकते हैं। इन फिल्मों में भाई-बहनों के बीच के रिश्ते को दिखाया गया है जिससे आप भी अपने भाई-बहन के और करीब आ जाएंगे।

करण-अर्जुन

सलमान खान और शाहरुख खान की फिल्म करण-अर्जुन बॉलीवुड की हिट फिल्मों में से एक है। इसमे दिखाया जाता है कि 2 भाई कैसे एक-दूसरे से बेहद प्यार करते हैं। हालांकि दोनों का मर्डर कर दिया जाता है। लेकिन उनका पुनर्जन्म होता है। हालांकि जब दोनों पुनर्जन्म में मिलते हैं तब मुसीबत आने पर फिर एक-दूसरे के साथ हो जाते हैं। दोनों का भाई-भाई का रिश्ता उन्हें एक-दूसरे की मदद करवाता है और फिर बाद में दोनों एक हो जाते हैं।

दिल धड़कने दो

दिल धड़कने दो में वैसे तो हर रिश्ते के बारे में बताया है। लेकिन इसमे भाई-बहन के रिश्ता का प्यारा बॉन्ड भी दिखाया है। रणवीर सिंह हमेशा अपनी बहन को हर चीज में आगे करते हैं फिर चाहे परिवार का कोई ट्रेडिशन ही क्यों ना हो। इतना ही नहीं वह अपनी बहन को गलत पति से दूर करता है। इसमे दिखाया गया है कि कैसे भाई-बहन एक-दूसरे की हर मुसीबत में मदद करते हैं।

कभी खुशी कभी गम

भले ही कभी खुशी कभी गम, भाई-बहन के रिश्ते पर नहीं बनी है। लेकिन इसमें इनका बॉन्ड जरूर दिखाया गया है जो काफी पसंद भी किया गया था। दोनों भाइयों के बीच का रिश्ता इतना स्ट्रॉन्ग होता है कि एक भाई अपने दूसरे भाई को ढूंढने विदेश तक चला जाता है। वहीं अपने भाई को पिता से मिलवाने के लिए और परिवार को एक करने के लिए हर मुश्किलों का सामना करता है।

यह भी पढ़ें : Raksha Bandhan fees: भूमि पेडनेकर से सादिया तक, जानें ‘रक्षा बंधन’ स्टार कास्ट की फीस, अक्षय कुमार ने ली मोटी रकम

भाग मिल्खा भाग

मिल्खा सिंह पर बनी इस फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे मिल्खा को अपने लक्ष्य तक पहुंचाने के लिए उनकी बहन स्ट्रगल करती है। इतना ही नहीं वह अपने भाई के सपनों को पूरा करने के लिए अपने गहने तक बेच देती हैं। वह मां की तरह भाई का ध्यान रखती हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here