Rishabh Pant says Important to disturb the bowlers in these conditions after sensational century against England at Edgbaston


एजबेस्टन टेस्ट में बेन स्टोक्स ने भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी करने के लिए उतारा, जो न्यूजीलैंड के खिलाफ जोरदार सीरीज जीत के बाद मुस्करा रहे थे। इंग्लिश गेंदबाजों का शुरुआती समय में दबदबा देखने को मिला, क्योंकि बारिश की वजह से भारत के 98 के स्कोर पर पांच विकेट गिर गए थे। इस बीच भारत को एक बार फिर से ऋषभ पंत ने बचा लिया, जिन्होंने अपनी ही शैली में एक सेंसेशनल सेंचुरी जड़ी। 

बाएं हाथ के बल्लेबाज ने दिन का खेल समाप्त होने के बाद क्रीज पर अपनी थॉट प्रोसेस के बारे में खुलासा किया। पंत ने रविंद्र जडेजा के साथ 222 रन की साझेदारी की और टीम इंडिया को दिन का खेल खत्म होने तक ड्राइवर सीट पर बिठाने का काम किया। वहीं, अटैकिंग माइंडसेट के बारे में पूछे जाने पर पंत ने कहा कि उन्होंने अपना नैचुरल गेम खेला और इन परिस्थितियों में गेंदबाजों को परेशान करना जरूरी है।  

ये भी पढ़ेंः ऋषभ पंत को इस दिग्गज ने बनाया बेरहम बल्लेबाज, जो तेज गेंदबाजों को भी जड़ देते हैं रिवर्स स्वीप

दिन के खेल के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऋषभ पंत ने कहा, “इंग्लैंड जैसी परिस्थिति में अगर आप जानते हैं कि गेंदबाज एक ही स्थान पर गेंदबाजी कर रहा है और बल्लेबाज को परेशान कर रहा है तो मुझे लगता है कि उसे परेशान करना बहुत जरूरी है। मैं कोशिश करता हूं कि एक ही तरह की क्रिकेट न खेलूं, कभी क्रीज से बाहर निकलूं तो कभी बैकफुट पर जाऊं। मैं क्रीज का अच्छी तरह से इस्तेमाल करता रहता हूं, मैं अपनी तरफ से थोड़ा सा प्रयास करने की कोशिश करता हूं और चीजें हो जाती हैं।” 

ये भी पढ़ेंः एमएस धोनी 40 रुपये में करा रहे थे इलाज, डॉक्टर को पता नहीं थी ये बात 

146 रन की दमदार पारी खेलने पर 24 वर्षीय पंत ने कहा है कि वो हमेशा अपना 100 फीसदी देने की कोशिश करते हैं। उन्होंने कहा, “एक खिलाड़ी के तौर पर मैं अपना शत-प्रतिशत देना चाहता हूं। हां, मैं कभी-कभी कुछ अलग शॉट खेल सकता हूं, लेकिन मैं अपना प्रतिशत नैचुरल गेम खेलने की कोशिश करता हूं, इसलिए मुझे लगता है कि गेंद को हिट करने के लिए या एक अलग शॉट की कोशिश करने के लिए मैं इसे हिट करने की कोशिश करता हूं।”  



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here