Saffron JNU : After the non-veg controversy now Hindu Sena put up saffron flags and posters at JNU gate and roads


Saffron Flags and Posters in JNU : जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में रामनवमी के दिन हुआ झगड़ा अभी शांत भी नहीं हुआ था कि अब जेएनयू के बाहर रोड और मेन गेट के करीब भगवा झंडे लगा दिए गए हैं। इन पोस्टरों पर लिखा गया है ‘भगवा जेएनयू।’ बताया जा रहा है कि कथित तौर पर यह पोस्टर और झंडे हिंदू सेना द्वारा लगाए गए हैं।

हिंदू सेना प्रमुख विष्णु गुप्ता ने कहा कि ‘भगवा जेएनयू’ वाले पोस्टर दक्षिणपंथी संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुरजीत सिंह यादव द्वारा लगाए गए हैं।

वॉट्सऐप पर प्रसारित एक वीडियो में गुप्ता को कथित तौर पर हिंदी में यह कहते हुए सुना जाता है कि जेएनयू परिसर में नियमित रूप से भगवा का अपमान किया जा रहा है। हम ऐसा करने वालों को चेतावनी देना चाहते हैं। अपने तरीके सुधारें। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।

संबंधित खबरें

उन्होंने कहा कि हम आपकी विचारधारा और हर धर्म का सम्मान करते हैं। भगवा का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और हम कड़े कदम उठा सकते हैं।

बता दें कि, रामनवमी के दिन जेएनयू के कावेरी हॉस्टल के मेस में कथित तौर पर मांसाहारी भोजन परोसने को लेकर दो छात्र गुटों में जबर्दस्त भिड़ंत हो गई थी, इस हिंसा में दोनों ओर के करीब दर्जनों छात्र घायल हो गए थे।

इस घटना को लेकर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) ने आरोप लगाया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सदस्यों ने छात्रों को छात्रावास में मांसाहारी भोजन खाने से रोका और हिंसा का माहौल बनाया। वहीं, एबीवीपी ने इन आरोपों से इनकार किया और दावा किया कि रामनवमी पर छात्रावास में आयोजित पूजा कार्यक्रम में वामपंथियों ने बाधा डाली। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पथराव करने और अपने-अपने सदस्यों के घायल होने का आरोप लगाया। इस बीच, हिंसा जुड़े कई कथित वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आए थे।

केंद्र सरकार ने जेएनयू से मांगी रिपोर्ट

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय (MoE) ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) कैंपस में रामनवमी के अवसर पर छात्रों के गुट के बीच हुई झड़प और अशांति को लेकर जेएनयू प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मानक प्रक्रियाओं के अनुसार, राम नवमी के अवसर पर छात्र समूहों के बीच झड़प और परिसर में अशांति के बारे में औपचारिक रिपोर्ट मांगी गई है।

(न्यूज एजेंसी पीटीआई के इनपुट के साथ) 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here