Shane Watson gives KL Rahul the mantra to score runs in the World Cup says If he play without pressure many bowlers will get into trouble – शेन वॉट्सन ने केएल राहुल को दिया वर्ल्ड कप में रन बनाने का मंत्र, कहा


शेन वॉटसन का मानना है कि केएल राहुल जब इस रवैये के साथ बल्लेबाजी करते हैं कि उनके पास खोने के लिए कुछ नहीं है, तो वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं। ऑस्ट्रेलिया का यह आलराउंडर चाहता है कि इस महीने के आखिर में होने वाले टी20 विश्वकप में भारत का यह सलामी बल्लेबाज इसी तरह से बल्लेबाजी करे।

एशिया कप और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्तमान सीरीज के दौरान राहुल का स्ट्राइक रेट आलोचकों के निशाने पर रहा। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टी20 मैच में भारत को केवल 107 रन का लक्ष्य हासिल करना था, लेकिन राहुल ने बेहद धीमी बल्लेबाजी की और 56 गेंदों पर नाबाद 51 रन बनाए।

वॉटसन ने पीटीआई से बातचीत में कहा कि राहुल को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले विश्वकप के दौरान पहली गेंद से ही आक्रामक रवैया अपनाना चाहिए।

वॉटसन ने कहा,” केएल राहुल मेरा पसंदीदा बल्लेबाज है और वह ऐसा बल्लेबाज है जिसको खेलते हुए देखना मुझे पसंद है। मेरे हिसाब से केएल राहुल तब अपनी सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी करता है जब वह आक्रामक होकर खेलता है। वह खेल को आगे बढ़ाता है और उस पर नियंत्रण करने की कोशिश नहीं करता है।”

उन्होंने कहा,” मुझे उसे तब बल्लेबाजी करते हुए देखना पसंद है जब वह ऐसा महसूस करता है कि उसके पास गंवाने के लिए कुछ भी नहीं है। तब वह बहुत अधिक जोखिम लिए बिना भी 180 के स्ट्राइक रेट से रन बना सकता है। अगर वह आस्ट्रेलिया में ऐसा कर सकता है तो काफी गेंदबाज परेशानी में पड़ जाएंगे।”

जसप्रीत बुमराह के चोटिल होने के कारण टी20 विश्व कप में भाग लेने पर सवालिया निशान लगा हुआ है। ऐसे में भारतीय तेज गेंदबाजी कमजोर नजर आती है। वाटसन का भी ऐसा ही मानना है और वह चाहते हैं कि अगर बुमराह विश्वकप के लिए फिट नहीं होते तो उनकी जगह मोहम्मद सिराज को टीम में रखा जाना चाहिए।

वॉटसन ने कहा, ”भारत के पास निश्चित तौर पर ऐसे बल्लेबाज हैं जो ऑस्ट्रेलियाई परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं लेकिन सबसे बड़ा सवालिया निशान उसकी तेज गेंदबाजी को लेकर है।”

उन्होंने कहा,” स्पिनर अक्षर पटेल और युजवेंद्र चहल दुनिया में किसी भी तरह की परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं लेकिन बुमराह के बिना तेज गेंदबाज क्या आखिरी ओवरों में दबाव की परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे। विरोधी टीम भारत की इस कमजोरी का फायदा उठाने का प्रयास करेंगी।”

वॉटसन ने कहा कि बुमराह की अनुपस्थिति में भारत को ऐसा तेज गेंदबाज चाहिए जो 140 किमी की रफ्तार से गेंदबाजी कर सके। उन्होंने कहा,” यह वास्तव में चिंता का विषय है (भारत के पास तेज रफ्तार का गेंदबाज नहीं होना) और इसलिए यदि बुमराह टीम में नहीं होते हैं तो फिर सिराज अच्छा विकल्प होगा।”

वॉटसन ने भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या की जमकर प्रशंसा की और कहा कि वह भारत की तरफ से खेलने वाले प्रत्येक मैच में अपना प्रभाव छोड़ सकते हैं। हार्दिक ने चोट से उबरने के बाद बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में अच्छा प्रदर्शन किया है।

कोविड से रिकवर हुए मोहम्मद शमी, वर्ल्ड कप के लिए शुरू की तगड़ी तैयारी; वीडियो में स्टंप उखाड़ते हुए नजर आए

वॉटसन ने कहा,” मुझे ऐसा ऑलराउंडर देखना पसंद है जो अच्छी गति से गेंदबाजी करें और हार्दिक की तरह गेंद को हिट भी करे। उसने जिस तरह से अपनी फिटनेस पर काम किया और अभी वह जैसी गेंदबाजी कर रहा है वह विशेष है।”

उन्होंने कहा,” वह मैच विजेता खिलाड़ी है। जब भी वह गेंदबाजी करता है  तो वह बहुत प्रभाव छोड़ सकता है। उसकी बल्लेबाजी में लगातार सुधार हो रहा है। सभी जानते हैं कि बीच के ओवरों में बल्लेबाजी करने की लिए उसके पास तकनीक है और वह 140 किमी की रफ्तार से गेंदबाजी भी कर सकता है।”



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here