Sri Lanka may lost Asia cup 2022 hosting rights due to economic crisis and political tension


श्रीलंका में इस समय आर्थिक संकट और राजनीतिक उथल-पुथल मची हुई है। ऐसे में एशिया के सबसे बड़े क्रिकेट टूर्नामेंट पर भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। जी हां, एशिया कप 2022 की मेजबानी श्रीलंका से छीनी जा सकती है। इसके पीछे कारण नया नहीं, बल्कि काफी समय से श्रीलंका में चला आ रहा आर्थिक संकट है। श्रीलंका अपने सबसे खराब वित्तीय संकट से जूझ रहा है और इस कठिन समय में एक और झटका इस देश को लगने की पूरी संभावना जताई जा रही है। 

श्रीलंकाई लोग इस समय राशन, ईंधन और अन्य आवश्यक चीजों की भारी कमी का सामना कर रहे हैं। खाने-पीने की चीजों के दास आसमान छू रहे हैं। यहां तक कि आर्थिक और राजनीतिक संकट की वजह से श्रीलंका के 22 मिलियन लोगों ने हफ्तों तक बिजली ब्लैकआउट और भोजन की गंभीर समस्या का सामना किया है। इसी वजह से श्रीलंका में एशिया कप 2022 का होना फिलहाल के लिए असंभव नजर आता है। 

पिछले महीने टी20 प्रारूप में खेले जाने वाले एशिया कप 2022 की मेजबानी श्रीलंका को सौंपी गई थी। इस टूर्नामेंट में भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और मेजबान श्रीलंका को भाग लेना था, लेकिन श्रीलंका में चल रहे आर्थिक और राजनीतिक संकट के कारण द्वीप राष्ट्र इस एशियाई टूर्नामेंट की मेजबान खो सकता है। एशिया कप को पहले ही कोरोना वायरस महामारी के कारण बाद दो साल तक स्थगित किया जा चुका है।  

संबंधित खबरें

जियोसुपर की ओर से दायर एक रिपोर्ट में कहा गया है कि श्रीलंका मौजूदा राजनीतिक और आर्थक तंगहाली की वजह से एशिया कप 2022 की मेजबानी के अधिकार खो सकता है। ऐसे में किसी अन्य देश को एशिया कप की मेजबानी मिल सकती है। आगामी टूर्नामेंट के शेड्यूल के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी की बैठक में फैसला होगा, जो जल्द दुबई में होगी। फिलहाल के लिए एशिया कप 2022 श्रीलंका में 27 अगस्त से 11 सितंबर तक आयोजित होना है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here