Talks to convert Delhi into full union territory alleges Arvind Kejriwal centre may dissolve Delhi Assembly to avoid elections – दिल्ली को पूर्ण केंद्र शासित प्रदेश बनाने की चल रही बात? केजरीवाल का आरोप


दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। केजरीवाल ने कहा कि ऐसी चर्चा है कि केंद्र दिल्ली विधानसभा को भंग कर सकता है और दिल्ली को एक पूर्ण केंद्र शासित प्रदेश में तब्दील कर सकता है।

मॉनसून सत्र के दूसरे दिन दिल्ली विधानसभा में केजरीवाल ने दावा किया कि ऐसी चर्चा है कि दिल्ली को पूर्ण केंद्र शासित प्रदेश में बदला जा सकता है और फिर चुनाव नहीं होंगे।

ये भी पढ़ें : अगस्त के अंत तक सिसोदिया को भी गिरफ्तार कर लेंगे, BJP पर गरजे केजरीवाल

केजरीवाल ने सदन में भाजपा विधायकों से कहा कि बातें चल रही हैं कि वे (भाजपा) दिल्ली को पूर्ण केंद्र शासित प्रदेश (यूटी) में बदल देंगे और अगला चुनाव नहीं होगा। केजरीवाल से नफरत करके, आप देश से नफरत करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल महत्वपूर्ण नहीं हैं, लेकिन देश महत्वपूर्ण है।

‘आप’ के सामने चुनाव लड़ने से डर रही भाजपा

भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा कि वे आम आदमी पार्टी से डरते हैं और इसलिए वे चुनाव नहीं चाहते हैं। केजरीवाल तो आता-जाता रहेगा। केजरीवाल महत्वपूर्ण नहीं हैं, लेकिन यदि आप चुनाव कराना बंद कर देंगे और संविधान को तोड़ देंगे तो यह देश खत्म हो जाएगा।

बाद में पत्रकारों से बात करते हुए केजरीवाल ने कहा कि भाजपा ‘आप’ को कंट्रोल करने में सक्षम नहीं है, इसलिए चर्चा है कि वे दिल्ली विधानसभा को भंग करना चाहते हैं।

ये भी पढ़ें : तुम मत टूटना, शिवसेना में टूट के बीच AAP विधायकों से बोले केजरीवाल

उन्होंने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता कह रहे हैं कि दिल्ली को पूर्ण केंद्र शासित प्रदेश बनाया जाएगा और विधानसभा भंग कर दी जाएगी, लेकिन अगर ऐसा हुआ तो दिल्ली की जनता चुप नहीं बैठेगी। दिल्लीवासी इस कदम के खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे। उन्होंने आगे कहा कि केंद्र सरकार ने अपनी एजेंसियों ईडी, सीबीआई और पुलिस को ‘आप’ के मंत्रियों और विधायकों के पीछे छोड़ दिया है क्योंकि वह दिल्ली में सत्ताधारी पार्टी से डरते हैं।

केजरीवाल ने कहा कि भाजपा के सामने देश में अन्य दल टूट रहे हैं या झुक रहे हैं, ‘आप’ एकमात्र पार्टी है जिससे भाजपा के दो शीर्ष नेता भी डरते हैं।

केंद्र एमसीडी चुनाव की अनुमति नहीं दे रहा, हम अदालत जाएंगे 

केजरीवाल ने मंगलवार को भाजपा नीत केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि वह बल प्रयोग और गुंडागर्दी करके शहर में दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) का चुनाव कराने की अनुमति नहीं दे रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘आप’ समय पर चुनाव कराने के लिए अदालत जाएगी।

केजरीवाल ने चर्चा के दौरान कहा कि वे (केंद्र) एमसीडी चुनावों की अनुमति नहीं देने के लिए बल प्रयोग और गुंडागर्दी का इस्तेमाल कर रहे हैं। एमसीडी चुनाव समय पर कराने के लिए हमें अदालत का दरवाजा खटखटाना होगा और हम ऐसा करेंगे। अपने भाषण के बाद केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा कि तीनों एमसीडी के एकीकरण की कवायद के दौरान केंद्र ने आश्वासन दिया था कि एक परिसीमन आयोग का गठन किया जाएगा, जिसके बाद चुनाव होंगे।

उन्होंने कहा कि एमसीडी का एकीकरण होने के बाद डेढ़ महीने से अधिक समय बीत चुका है, लेकिन उन्होंने परिसीमन आयोग का गठन नहीं किया है। केजरीवाल ने कहा कि वे नहीं चाहते कि चुनाव हों, और यह लोकतंत्र के खिलाफ है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here