Team Indian opener Smriti Mandhana among nominees for ICC Womens Cricketer of the Year – Latest Cricket News


भारतीय महिला क्रिकेट टीम की स्टार बल्लेबाज स्मृति मंधाना को सभी फॉर्मेटों में शानदार प्रदर्शन के लिए शुक्रवार को आईसीसी द्वारा साल की सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया गया। मंधाना को गुरुवार को  साल की सर्वश्रेष्ठ महिला टी-20 खिलाड़ी के वर्ग में भी नॉमिनेट किया गया था।  मंधाना को इंग्लैंड के टैमी ब्यूमोंट, दक्षिण अफ्रीका की लिजेल ली और आयरलैंड की गैबी लुईस के साथ इस शीर्ष पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया गया। यह पुरस्कार साल के दौरान महिला इंटरनेशनल क्रिकेट (टेस्ट, वनडेऔर टी20 इंटरनेशनल) में समग्र रूप से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली खिलाड़ी को दिया जाता है। विजेता की घोषणा 23 जनवरी को की जाएगी।
    
बाएं हाथ की 25 साल की इस बल्लेबाज ने वर्ष 2021 के दौरान 22 इंटरनेशनल मैचों में 38.86 की औसत से 855 रन बनाए। इसमें एक शतक और पांच अर्धशतक शामिल है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लिमिटेड ओवरों की घरेलू सीरीज में भारतीय टीम को आठ में से छह मैचों में हार का सामना करना पड़ा था। टीम जिन दो मुकाबलों को जीतने में सफल रही थी उसमें मंधाना की भूमिका अहम थी। दूसरे वनडे में उनके नाबाद 80 रन के बूते भारत ने सफलतापूर्वक 158 रन के लक्ष्य का पीछा किया था। इसके बाद टी-20 सीरीज के अंतिम मैच में उन्होंने 48 रन की पारी खेल भारतीय टीम को जीत दिलाई।  मंधाना ने इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट की पहली पारी में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 78 रन बनाए थे। यह मैच ड्रॉ रहा था। 

U19 Asia Cup Final: भारत ने श्रीलंका को 9 विकेट से हराकर 8वीं बार जीता खिताब, अंगकृष रघुवंशी ने जड़ी फिफ्टी
    
उन्होंने इस टीम के खिलाफ वनडे सीरीज में भारत की एकमात्र जीत में 49 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली। टी-20 इंटरनेशनल सीरीज में उनकी 15 गेंदों में 29 और फिर अर्धशतकीय पारी टीम के काम नहीं आयी। भारतीय टीम इन दोनों मैचों के साथ श्रृंखला भी 1-2 से हार गई। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी उनके बल्ले ने खूब चमक बिखेरी। उन्होंने वनडे सीरीज के दूसरे मैच में 86 रन बनाए थे। दौरे पर खेली गए डे-नाइट टेस्ट में उन्होंने खेल के सबसे लंबे फॉर्मेट में पहली शतकीय पारी खेली। उन्होंने 127 रन बनाए। वह इस ड्रा मैच में प्लेयर ऑफ द मैच चुनी गई थी।

साउथ अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्केल ने बतायाा, टीम इंडिया क्यों है दुनिया की सबसे बेस्ट टीम
    
इंग्लैंड की ब्यूमोंट इस दौरान कैलेंडर वर्ष में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बनी। उन्होंने इस साल 21 इंटरनेशनल मैचों में 48.44 के औसत से एक शतक और आठ अर्धशतकों के साथ 872 रन बनाए। दक्षिण अफ्रीका के ली ने 19 इंटरनेशनल मैचों में 57.6 की औसत से एक शतक और सात अर्धशतकों के साथ 864 रन बनाए। आयरलैंड की लुईस लुईस ने 15 इंटरनेशनल मैचों में 52 की औसत से एक शतक और चार अर्धशतकों के साथ 624 रन बनाए। उन्होंने इस दौरान आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप यूरोपीय क्वालीफायर में जर्मनी के खिलाफ महज 60 गेंदों में नाबाद 105 रन की पारी खेली। वह टी-20 इंटरनेशनल में शतक लगाने वाली आयरलैंड की पहली खिलाड़ी है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here